जेएनएन, चंडीगढ़। पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के विधानसभा सत्र में शामिल होने के आसार काफी कम हैं। शुक्रवार को भी वह विधानसभा में नहीं आए थे। अब सोमवार और मंगलवार को दो दिन का सत्र बाकी है, जिसमें उनके आने की उम्मीद न के बराबर है। उनके करीबी दोस्त और विधायक परगट सिंह पिछले दिनों उनसे मिलने गए थे।

उन्होंने बताया कि उनकी सिद्धू से सत्र को लेकर तो कोई बात नहीं हुई, लेकिन उनके मूड से ऐसा लग रहा था कि वह सत्र में आने को लेकर राजी नहीं हैं। परगट सिंह के अलावा डॉ. राजकुमार वेरका भी नवजोत सिंह सिद्धू से मिलकर आए हैं। सिद्धू किसी को भी अपना मन नहीं बता रहे हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू अपना सरकारी आवास खाली करके अपने हलके अमृतसर में ही रह रहे हैं। वह किसी भी मीडिया कर्मी से बात नहीं कर रहे हैं। वह केवल स्थानीय नेताओं और वर्करों के साथ ही मिल रहे हैं। विधानसभा में उनकी सीट मंत्रियों की सीट के साथ ही लगाई गई है। उनकी सीट दूसरी कतार में राकेश पांडे के साथ वाली बेंच पर तय की गई है। उनके शुक्रवार को सत्र में आने की उम्मीद थी।

कहा जा रहा था कि सिद्धू अगर विधानसभा में आते हैं, तो विभिन्न मुद्दोंं पर अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलकर उन्हें परेशानी में डाल सकते हैं, लेकिन ऐसे आसार कम ही नजर आ रहे हैं। गौरतलब है सिद्धू ने उनका विभाग बदले जाने के बाद मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इस दौरान कैप्टन से उनका मनमुटाव लगातार सामने आ रहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!