चंडीगढ़ [जय सिंह छिब्बर]। बेबाकी के साथ बोलने वाले कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू कैप्टन अमरिंदर सिंह के निशाने पर आने के बाद पिछले 24 दिनों से खामोश हैं। सिद्धू न सिर्फ मीडिया से दूर हैं, बल्कि सोशल मीडिया से भी गायब हैं। उन्होंने आखिरी बार सात जून को फेसबुक पर पोस्ट अपलोड करते हुए लिखा था, 'मैं पंजाब के लोगों का सेवक हूं और तथ्यों पर आधारित सत्य ही पेश करूंगा।' इस पोस्ट में सिद्धू ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में कांग्रेस की तरफ से जीती गई सीटों का विवरण दिया गया है।

इससे पहले दो जून को सिद्धू ने ट्वीट किया था। सिद्धू ने ट्वीट करते हुए कहा, 'बहादुर कब किसी का आसरा एहसान लेते है, उसी को कर गुजरते हैं जो मन में ठान लेते हैं। इसी तरह 7 जून को उन्होंने कांग्रेस प्रधान राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और अहमद पटेल के साथ मुलाकात करने वाली फोटो अपलोड की थी। इसके बाद सिद्धू की तरफ से सोशल मीडिया पर कुछ भी शेयर नहीं किया गया है।

नवजोत सिद्धू के साथ-साथ उनकी पत्नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू ने भी चुप्पी साधी हुई है। उन्होंने विजिलेंस की तरफ से स्थानीय सरकार विभाग के प्रोजेक्टों को लेकर छापेमारी व जांच की सराहना करते हुए सभी विभागों की विजिलेंस जांच की मांग की थी। गौरतलब है कि सिद्धू कई बार कैप्टन अमरिंदर पर निशाना साधते रहे हैं। 'कौन कैप्टन' वाला उनका बयान खासा विवादों में रहा था। उनका खासा विरोध भी हुआ था। मंत्री भी उनके विरोध में आ गए थे। हाल ही में सिद्धू के खिलाफ पोस्टर भी लगे थे। तब से सिद्धू सोशल मीडिया पर भी खामोश हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt