जासं, मोहाली (जीरकपुर)। जीरकपुर में निजी स्कूल कोरोना नियमों का उल्लंघन करते पाया गया है। यहां केवल दो स्टाफ सदस्यों को कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगी पाई गई थी। सोमवार को सेंट सोल्जर स्कूल की चेकिंग की गई थी। नोडल ऑफिसर रिषभ गर्ग ने बताया कि सेंट सोल्जर स्कूल की चेकिंग के दौरान पाया गया कि डीसी मोहाली के आदशों के उलट पहली क्लास से लेकर चौथी क्लास के बच्चे भी बुलाए गए थे और ज्यादातर बच्चों ने मास्क नहीं लगाया था। इसके इलावा स्कूल में केवल दो स्टाफ सदस्य ऐसे मिले, जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज लगवाई हुई थी।इसकी रिपोर्ट बनाकर एसडीएम डेरा बस्सी को भेजी गई है। इस सबंध में सैंट सोल्जर स्कूल की प्रिंसिपल से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने कॉल नहीं उठाई।

स्कूलों पर दर्ज हो चुका है केस

कुछ दिन पहले जीरकपुर के नोडल अधिकारी रिषभ गर्ग ने दो स्कूलों- मानव मंगल स्कूल और दिल्ली पब्लिक स्कूल की चेकिंग की थी। यहां कोरोना नियमों की उल्लंघना करने के आरोप में नोडल ऑफिसर की रिपोर्ट के बाद एसडीएम के आदेशों पर जीरकपुर पुलिस ने केस दर्ज किया गया था। 

बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए पंजाब सरकार ने स्कूलों के लिए कुछ आदेश जारी किए हैं। इन आदेशों के मुताबिक ही स्कूल खोले जा सकते हैं। डीसी मोहाली ने आदेशों के मुताबिक पहली क्लास से लेकर चौथी क्लास तक के बच्चों को स्कूल नहीं बुलाने के आदेश है। चौथी क्लास तक के बच्चों को घर से ही आनलाइल क्लास के जरिए पढ़ने को कहा गया है। इसके साथ, कोरोना नियमों के तहत बच्चों और टीचरों को स्कूल में आने के आदेश हैं। सरकार के सख्त निर्देश हैं कि कोई भी टीचर कोरोना की दूसरी वैक्सीन के बिना स्कूल नहीं आ सकता। डीसी मोहाली ने इसकी जांच के लिए हर क्षेत्र में नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं।लगातार स्कूलों की जांच की जा रही है। डेरा बस्सी में भी यह जांच जारी है। 

Edited By: Pankaj Dwivedi