जागरण संवाददाता, मोहाली। मोहाली शहर के बीचों बीच बसे गांवों के पशुपालकों के मवेशियों को निश्चित जगह पर शिफ्ट करने की तैयारी निगम ने शुरू कर दी है। जहां पर पशुओं को शिफ्ट किया जाना है वहां पर साफ सफाई का काम शुरू कर दिया गया है। हालांकि निगम का ये प्रस्ताव स्थानीय निकाय विभाग के पास लंबित पड़ा है। प्रस्ताव पर अभी अंतिम फैसला आना बाकि है, लेकिन निगम ने साफ सफाई का काम शुरू करवा दिया है।

नगर निगम की ओर से करीब एक हजार पशुओं को शिफ्ट किया जाएगा। पशुओं के शिफ्ट होने से सड़क हादसों में कमी आएगी और शहर साफ सुथरा होगा। अभी तक गांवों के लोग पशुओं को दिन व रात के समय सड़कों पर छोड़ देते हैं, जोकि हादसों का कारण बनते हैं।

ध्यान रहे कि निगम की ओर सेक्टर-91 व 94 में निगम की जमीन पर पशु पालकों को पशु रखने के लिए शेड बना कर दिए जा रहे हैं। पहले इस जगह को पशु  पालकों को लीज पर दिया जाना था लेकिन विपक्ष के विरोध के चलते अब पशु पालकों से इसका मासिक किराया लिया जाएगा।

मेयर अमरजीत सिंह जीती सिद्धू व डिप्टी मेयर कुलजीत सिंह बेदी ने बताया कि जिस जगह पर पशुओं को शिफ्ट किया जाना है वहां पर चारदीवारी का काम करवा कर शेड बनाए जा रहे हैं। इसको लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जब सारी सुविधाएं पूरी हो जाएंगी तो पशु पालकों को जगह किराये पर दे दी जाएगी। निगम की ओर से जिस जगह पर पशु पालकों को शिफ्ट किया जाना है वे जगह ग्रेटर मोहाली एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (गमाडा) ने निगम को दी थी। 13 एकड़ जमीन में से तीन एकड़ जमीन पशु पालकों को दी जा रही है। निगम के मेयर अमरजीत सिंह जीती सिद्धू ने बताया कि जमीन पर साफ सफाई का काम शुरू करवा दिया गया है। जहां पर किराये का मसला है इसको लेकर डीसी मोहाली को पत्र लिखा गया है। उनके स्तर पर एक कमेटी बनी है जोकि किराया फिक्स करेगी। जैसे ही प्रस्ताव स्थानीय निकाय विभाग से पास होकर आ जाएगा काम ओर तेजी से शुरू कर दिया जाएगा।

Edited By: Ankesh Thakur