मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, मोहाली। जिले में माइनिंग को रोकने के लिए प्रशासन की ओर से कार्रवाई शुरू कर दी गई है। कुराली क्षेत्र में खनन माफिया ने प्रशासन से मिलीभगत करके इलाके में 40 से 50 फीट गहरे गड्ढे बना दिए, लेकिन अब माइनिंग विभाग ने खनन माफिया पर कार्रवाई करने की बजाय अभीपुर गांव समेत तीन गांवों के किसानों को 53 करोड़ रुपये के जुर्माने के नोटिस जारी करके एक महीने में भरने को कहा है, जबकि किसानों का कहना है कि उनका खनन के साथ कोई संबंध नहीं है और न ही वे इतने बड़े जुर्माने भर सकते हैं।

माइनिंग विभाग की ओर से भेजे गए करोड़ों रुपये के नोटिसों के बाद रोष में आए किसानों से पूर्व मंत्री जगमोहन सिंह कंग मीटिंग कर चुके हैं, लेकिन कोई हल नहीं निकल सका है। इस दौरान किसानों ने उन्हें एक मांग पत्र भी दिया था। कंग ने क्षेत्र के किसानों की समस्या सरकार तक पहुंचाने तथा हल करवाने का भरोसा दिया। किसान मलकीत सिंह, लाभ सिंह, हरप्रीत सिंह, सुच्चा सिंह और अन्य ने पूर्व मंत्री कंग को बताया कि क्षेत्र में पिछले डेढ दशक से सरकार और प्रशासन की मिलीभगत के साथ लगातार खनन होता आ रहा है। जिसके लिए सरकार और प्रशासन पूरी तरह से जिम्मेदार हैं। इस मौके पर हलका खरड़ के यूथ कांग्रेस के प्रधान राणा कुशलपाल, कृपाल सिंह, हरिंद्र सिंह, रणजीत सिंह, जसविन्द्र सिंह आदि किसानों ने कहा कि उनके साथ धक्का हो रहा है।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Vikas Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!