जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : आईटी पार्क में दिल्ली सीबीआइ कर्मियों की कुछ दिन पहले हुई वारदात की तरह चार बदमाश नकली क्राइम ब्रांच अफसर बनकर उसी एरिया में लूट करते पकड़े गए। बदमाशों ने इनोवा कार में एक प्रापर्टी डीलर का शनिवार रात अपहरण किया और उसे अपनी कार में घुमाने के बाद पैसे लूट लिए। बदमाश दोबारा मिलने की बात कहकर उसे छोड़कर चले गए। प्रापर्टी डीलर की शिकायत पर आइटी पार्क थाना पुलिस ने आरोपित नयागांव निवासी संदीप उर्फ सैंडी, विशाल, कुलविदर और सुखविदर सिंह को गिरफ्तार कर इनोवा भी बरामद कर ली है।

एनएसी मनीमाजरा निवासी प्रापर्टी डीलर अमित कुमार ने शिकायत में बताया कि 12 अगस्त को उसे अज्ञात व्यक्ति ने काल कर मिलने डीएलएफ लाइट प्वाइंट पर बुलाया। वहां उसकी एक्टिवा पार्किंग में खड़ी कराने के बाद आरोपित ने खुद को सेक्टर-11 स्थित क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर उसे भूरे रंग की इनोवा गाड़ी में बैठा लिया। आरोपित ने कहा कि उसके नाम पर वारंट जारी है और उसकी जेब से जबरन 15 हजार नकद और मोबाइल लूट लिया।

रात में इनोवा में कैद कर इधर-उधर घुमाते रहे

शिकायतकर्ता प्रापर्टी डीलर ने बताया कि आरोपितों ने देर रात आइटी पार्क स्थित पेट्रोल पंप से कार में तेल भरवाया, इसके बाद उसे लेकर इधर-उधर घुमाते हुए डाल्फिन चौक की ओर निकल गए। इसके बाद किशनगढ़ चौक के पास उसका मोबाइल देकर नीचे उतार दिया। इसके बाद उसने शिकायत आइटी पार्क थाना पुलिस को शिकायत दी।

13 अगस्त की रात दोबारा बुलाने पर लगाया ट्रैप -

इसके दूसरे दिन 13 अगस्त को नकली क्राइम ब्रांच अफसरों ने उसे काल कर पैसे वापस करने की बात कर बुलाया। सूचना मिलने पर आइटी पार्क थाना प्रभारी रोहताश यादव के सुपरविजन में गठित टीम ने ट्रैप लगाकर काबू किया। शिकायतकर्ता डीलर ने आरोपितों को इंदिरा कालोनी से आईटी पार्क वाली सड़क पर मिलने बुलाया था। इस दौरान आरोपित सिल्वर रंग की कार में आए थे।

प्रापर्टी डीलर से किसी बड़े व्यापारी की मांग रहे थे जानकारी

बता दें कि इससे पहले इसी तरह आइटी पार्क एरिया में एक बिजनेसमैन को अपहरण कर जबरन वसूली मामले में दिल्ली सीबीआइ के चार सब इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी हो चुकी है। उन्हें विभाग ने तत्काल प्रभाव से बर्खास्त भी कर दिया था। एक आरोपित ने पूछताछ में बताया कि सीबीआइ कर्मियों की वारदात जानने के बाद उन्होंने किसी बड़े व्यापारी को लूटने की प्लानिग बनाई। वह प्रापर्टी डीलर से किसी बड़े व्यापारी के बारे में जानकारी हासिल कर रहे थे। सैंडी पर अपहरण और एनडीपीएस एक्ट में चार, विशाल पर मोहाली-चंडीगढ़ में तीन, सुखविदर पर अंबाला में मारपीट के दो और कुलजिदर पर मारपीट के चार केस दर्ज हैं। आरोपितों को जिला अदालत ने अपहरण, लूट सहित विभिन्न धाराओं के तहत जेल भेज दिया हैं।

Edited By: Jagran