जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल और चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के प्रदेश सचिव राजीव मोदगिल ने ट्रैफिक इंस्पेक्टर पर मामूली बात पर चार-पांच थप्पड़ जड़ने का आरोप लगाया है। जबकि, मौके पर इंस्पेक्टर शरनजीत सिंह ने जाम के दौरान मोदगिल पर अपशब्द बोलने और मारपीट करने का आरोप लगाया है। सेक्टर-19-20-27 प्वाइंट पर जाम के दौरान हुए विवाद की सूचना पाकर पहुंची पीसीआर ने मोदगिल का जीएमएसएच-16 में मेडिकल करवाया। मंगलवार देर शाम तक दोनों पक्ष सेक्टर-19 थाने में अपनी शिकायत देकर बैठे हुए थे।

स्कूल से छुट्टी के बाद लेने जा रहे थे बच्चों को

राजीव मोदगिल सेक्टर-19 में परिवार के साथ रहते हैं। उनके भाई इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा यूटी पुलिस में पीआरओ हैं। मोदगिल ने बताया कि रोजाना की तरह वे दोपहर दो बजे के करीब सेक्टर-27 स्थित स्कूल से अपने बच्चों को छुंट्टी होने के बाद लेने जा रहे थे। सेक्टर-19-20-27 प्वाइंट पर सड़क रिपेयरिंग के कारण लंबा जाम लगा हुआ था। मैं तो इंस्पेक्टर से बात करने गया था इस दौरान वहां ओआरपी रैंक के ट्रैफिक इंस्पेक्टर शरनजीत सिंह तैनात थे। करीब 45 मिनट तक जाम में इंतजार करने के बाद वे इंस्पेक्टर से बोलने लगे कि उनके बच्चे इंतजार कर रहे हैं, तो उन्हें निकलने दिया जाए। मोदगिल का आरोप है कि वह इंस्पेक्टर से बातचीत करने गए थे, लेकिन गुस्से में आकर इंस्पेक्टर ने उनको कई थप्पड़ जड़ दिए और उनके कपड़े भी फाड़े। इस दौरान मौजूद कुछ लोगों ने बीचबचाव कर झगड़ा शांत करवाया।

इंस्पेक्टर बोला, मारपीट कर गाली दी

इंस्पेक्टर शरनजीत सिंह का आरोप है कि मोदगिल ने उनके साथ मारपीट कर गाली निकाली। जिसके बाद सूचना पाकर पहुंची पीसीआर ने मोदगिल का मेडिकल भी करवाया। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि बंद रास्ते से जाने की बार-बार जिद्द करने के कारण मोदगिल और इंस्पेक्टर में झड़प हुई। ओआरपी रैंक पर शरनजीत सिंह को इंस्पेक्टर बनाया गया है। 31 जनवरी 2019 को इंस्पेक्टर शरनजीत यूटी पुलिस विभाग से रिटायर होंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!