कुलदीप शुक्ला, चंडीगढ़। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार चंडीगढ़ पुलिस के फैन हैं। भुवनेश्वर कुमार ने चंडीगढ़ पुलिस की खुल की तारीफ भी की है। भुवी यूटी पुलिस के साइबर स्वच्छता मिशन के मुरीद हुए हैं। इसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया पर चंडीगढ़ पुलिस के इस मिशन की प्रशंसा की है। 
भुवी ने अपने ट्विटर हैंडल पर चंडीगढ़ साइबर क्राइम पुलिस की तरफ से चलाई जा रही साइबर स्वच्छता मिशन की खूब सराहना की है। इसके साथ लिखा कि यह साइबर सुरक्षा में अनूठा हथियार साबित होगा। यह हम सभी की जिम्मेदारी और युवाओं को आगे आना चाहिए। बता दें कि भुवनेश्वर कुमार हाल ही में भारत-आस्ट्रेलिया टी-20 मुकाबला खेलने के लिए चंडीगढ़ आए थे। 3 मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला मोहाली स्थित आइएस बिंद्रा स्टेडियम में 20 सितंबर को हुआ था। इस दौरान भारतीय क्रिकेट टीम चंडीगढ़ के आइटी पार्क स्थित एक होटल में रुकी थी। 
भुनेश्वर ने लिखा - चंडीगढ़ पुलिस को बधाई, युवाओं को मिशन से जुड़ना चाहिए
भारतीय तेज गेंदबाद भुवनेश्वर कुमार ने ट्वीट कर लिखा कि मैं चंडीगढ़ पुलिस को डिजिटल इंडिया के तहत साइबर स्वच्छता मिशन की पहल करने के लिए बधाई देता हूं। यह मिशन साइबर सुरक्षा के लिए और बेहतर होगा। इसके साथ युवाओं में साइबर से संबंधित जानकारी की क्षमता अधिक होगी। इसके लिए युवाओं को आगे आकर चंडीगढ़ पुलिस के इस अनोखे मिशन से जुड़ना चाहिए। यह हम सभी की जिम्मेदारी है कि साइबर सुरक्षा का अभ्यास करें। इससे खुद के साथ दूसरे को भी साइबर क्राइम से सुरक्षित कर सके।  
इसी मिशन में साइबर सोल्जर्स तैयार, गृह मंत्रालय की थी सराहना
चंडीगढ़ के डीजीपी प्रवीर रंजन के निर्देशन में साइबर एसपी केतन बंसल के सुपविजन में साइबर स्वच्छता मिशन संचालित किया जा रहा है। इसके तहत शहर में पुलिस की तरफ से साइबर बैकग्राउंड वाले स्टूडेंट्स को ट्रेनिंग देकर साइबर सोल्जर्स बनाया जा रहा है। साइबर सोल्जर्स को साइबर एक्सपर्ट्स एजुकेशन पुलिस आफिसर के सुपरविजन में ट्रेनिंग दी जा रही है। इन स्टूडेंट्स को इंफोसिस कंपनी समेत अन्य आइटी कंपनियों में इंटर्नशिप कराई जा रही है। इसके तहत 389 छात्रों का संपूर्ण साइबर तकनीकी शिक्षा प्रशिक्षण शुरू हो चुका है। इसकी गृह मंत्रालय सराहना करने के साथ उनकी तरफ से साइबर अपराध के खिलाफ दूसरे राज्यों को भी इस तरह की मुहिम चलाने का निर्देश जारी किया जा चुका है। देश भर में आबादी के आधार पर डिजिटल ट्रांजेक्शन में नंबर-1 चंडीगढ़ साइबर क्राइम का हब बनता जा रहा है। शहर में चीफ जस्टिस, आइएएस, आइपीएस, पीजीआइ डायरेक्टर, बैंक अधिकारी के नाम पर ठगी और ठगी की कोशिश हो चुकी हैं। 

Edited By: Ankesh Thakur