जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच-32) में भर्ती एक मरीज ने छठी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। व्यक्ति ने जैसे ही छलांग लगाई उस समय वहां मौजूद लोग डर गए। मृतक की पहचान 46 वर्षीय रमेश के तौर पर हुई है। रमेश कुछ दिनों से जीएमसीएच में भर्ती था। मृतक के परिवार में पत्नी और तीन बेटियां हैं। अस्पताल में उसका टीबी का इलाज चल रहा था। वहीं, रमेश का एचआइवी टेस्ट भी किया गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। सूचना पाकर पहुंची सेक्टर-34 थाना पुलिस मामले की जांच में लगी है।

पुलिस ने बताया कि मृतक रमेश मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का रहने वाला था। वह चंडीगढ़ के जीएमसीएच-32 में कुछ दिन पहले ही टीबी का इलाज करवाने के लिए भर्ती हुआ था। स्वजनों की मौजूदगी में वह टीबी का इलाज करवा रहा था। शुक्रवार दोपहर 2.10 बजे पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना मिली कि एक व्यक्ति ने छठी मंजिल से अस्पताल परिसर में छलांग लगा दी। पुलिस के अनुसार मृतक की एचआइवी रिपोर्ट पॉजिटिव आने की पुष्टि हुई है। रमेश हिमाचल के बद्दी में किसी कंपनी में काम करता था।

कोरोना काल में पहले भी हुई इस तरह की घटनाएं

इससे पहले भी कोरोना काल के दौरान जीएमसीएच-32 में कोरोना के एक मरीज ने पांचवीं मंजिल से छलांग लगाकर जान दे दी थी। बुरी तरह से लहू लुहान हालत में मरीज को तुरंज इलाज के लिए ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सेक्टर-55 में रहने वाले 60 वर्षीय चुन्नी लाल कोरोना के पेशेंट थे और उसका इलाज जीएससीएच-32 में चल रहा था। रविवार सुबह करीब 7.30 बजे वह अचानक अस्पताल के ए-ब्लॉक की पांचवी मंजिल से कूद गया था। नीचे गिरने से वह बुरी तरह से घायल हो गया। सिक्योरिटी गार्ड्स ने उसे तुरंत इमरजेंसी वार्ड में पहुंचाया, जहां उसने दम तोड़ दिया था।

Edited By: Ankesh Thakur