Move to Jagran APP

Financial HELP for Labour: पंजाब में रजिस्टर्ड श्रमिकों को बड़ी राहत, सभी को मिलेगी 3000-3000 रुपये की सहायता

Financial HELP for Labour पंजाब सरकार ने रजिस्टर्ड निर्माण श्रमिकों के लिए कोरोना काल में वित्तीय सहायता का एलान किया है। श्रमिकों को सरकार की ओर से 3000 रुपये की वित्तीय मदद दी जाएगी। यह सहायता दो किस्तों में दी जाएगी ।

By Kamlesh BhattEdited By: Published: Thu, 13 May 2021 06:18 PM (IST)Updated: Fri, 14 May 2021 01:03 PM (IST)
पंजाब में निर्माण श्रमिकों को मिलेगी वित्तीय सहायता। सांकेतिक फोटो

जेएनएन, चंडीगढ़। Financial HELP for Labour: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कोरोना महामारी के कारण परेशानी झेल रहे निर्माण श्रमिकों को वित्तीय सहायता देने का एलान किया है। मुख्यमंत्री ने आज निर्माण और अन्य निर्माण कामगार (बीओसीडब्ल्यू) कल्याण बोर्ड के साथ रजिस्टर्ड सभी निर्माण कामगारों को 3000-3000 रुपये  गुजारा भत्ता/नगद सहायता देने का ऐलान किया है।

loksabha election banner

कैप्टन बोर्ड के चेयरमैन भी हैं। उन्होंने कहा कि 3000 रुपये का गुज़ारा भत्ता 1500-1500 रुपये की दो किश्तों में अदा किया जाएगा और पहली किश्त तुरंत जारी की जाएगी, जबकि दूसरी किश्त 15 जून, 2021 तक अदा की जाएगी। बता दें, कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने महामारी की पहली लहर के दौरान बीते साल भी संकट में डूबे निर्माण कामगारों के लिए इसी तरह की सहायता दी थी। उस मौके पर बोर्ड के साथ रजिस्टर्ड 2.92 लाख निर्माण कामगारों को 6000 रुपये के हिसाब से 174.31 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई थी।

यह भी पढ़ें: स्कूल में हो., लेख मत सुनाना., कॉलेज चले जाओ., ये हैं पाकिस्तान में बैठे तस्करों के कोडवर्ड, साबी से पूछताछ में हुआ खुलासा

बोर्ड के साथ राज्य भर में लगभग तीन लाख रजिस्टर्ड निर्माण कामगार हैं। कोविड मामलों में हाल ही में हुई वृद्धि से पैदा हुई मौजूदा स्थिति पर काबू पाने के लिए उठाए गए सख़्त कदमों और समय-समय जारी किए गए दिशा-निर्देशों के मद्देनजऱ इन निर्माण कामगारों की रोज़ी-रोटी पर बुरा असर पड़ा था।

यह भी पढ़ें: Amitabh Bachchan से दो करोड़ का दान लेने पर पंथक विवाद, HSGPC व सिख संगठनों ने राशि वापस करने को कहा

बहुत से स्थान पर चल रहे निर्माण प्रोजेक्टों का काम या तो रुक गया है या फिर अस्थायी तौर पर काम की रफ़्तार धीमी हो गई है, जिससे ऐसे कामगारों की आमदन और रोज़ी-रोटी पर बुरा असर पड़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वित्तीय सहायता देने का उद्देश्य इस कठिन समय में निर्माण कामगारों को तत्काल राहत मुहैया करवाना है।

यह भी पढ़ें: सोनाली फोगाट और सपना चौधरी का मुकाबला, ममता का हुड्डा प्रेम, पढ़ें हरियाणा की और भी रोचक खबरें

यह भी पढ़ें: पंजाब के एक दर्जन गांवों की ग्राउंड रिपोर्ट, दिल्ली बार्डर से लौटकर किसान बन रहे सुपर स्प्रेडर


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.