जागरण संवाददाता, मोहाली : चंडीगढ़ स्थित सेक्टर-47 माउंट कार्मल स्कूल की छात्रा ने टीचर्स की प्रताड़ना से परेशान होकर रविवार रात को फंदा लगा लिया। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ पीड़ित छात्रा के पेरेंट्स द्वारा मनमानी फीस बढ़ोतरी के खिलाफ अदालत में केस किया हुआ था। पीड़ित परिवार के अनुसार उनकी बेटी को काफी समय से स्कूल टीचर्स द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा था। मोहाली के फेज-11 निवासी हर्षलीन कौर माउंट कार्मल स्कूल में नौवीं क्लास की स्टूडेंट थी। रविवार देर रात परिजनों के सोने के बाद 14 साल की लड़की ने घर के बाथरूम में जाकर फंदा लगा लिया। हर्षलीन बाथरूम में बनी खिड़की से लटकी मिली। परिजनों ने आरोप लगाया है कि हर्षलीन काफी दिनों से डिप्रेशन में थी। दादा उठे तो नहीं खुला बाथरूम, दरवाजा तोड़ा गया

सोमवार सुबह जब उसके दादा बाथरूम जाने लगे, तो उन्होंने दरवाजा बंद पाया और बार-बार खटखटाने पर भी जब दरवाजा नहीं खोला गया, तो उसे तोड़ा गया। दरवाजा तोड़ा तो अंदर हर्षलीन का शव लटका मिला। उन्होंने तुरंत पुलिस को फोन किया। मौके पर पहुंची फेज-11 पुलिस ने हर्षलीन की लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए फेज-6 सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहा दोपहर बाद पोस्टमार्टम किया गया और शव परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस ने मामले में दादा के बयान पर धारा 174 के तहत केस दर्ज किया है। परिजनों ने स्कूल पर कर रखा था केस

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुछ समय पहले प्राइवेट स्कूलों में फीस बढ़ोतरी को लेकर काफी मामला गर्माया था। हर्षलीन कौर माउंट कॉर्मल स्कूल में पढ़ रही थी और इस स्कूल के खिलाफ भी कुछ बच्चों के पेरेंट्स ने मिलकर कोर्ट केस किया हुआ है। इन पेरेंट्स में हर्षलीन के माता-पिता भी शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार जब से स्कूल के खिलाफ केस किया गया है। उसके बाद से हर्षलीन डिप्रेशन में चली गई थी। सूत्रों ने बताया कि जिन बच्चों के पेरेंट्स् ने स्कूल के खिलाफ केस किया हुआ है। उन बच्चों को स्कूल टीचर्स द्वारा प्रताड़ित किया जाता रहा है। सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को भी हर्षलीन जब एक टीचर के पास होमवर्क चेक कराने गई, तो उसे अपमानित किया गया। स्कूल ने मंगलवार को छुंट्टी घोषित की

हर्षलीन की मौत के बाद स्कूल प्रबंधन काफी डरा हुआ है। इस मामले में स्कूल के टीचर्स या अन्य अधिकारी कोई भी कमेंट करने से बच रहे हैं। उधर, स्कूल ने 11 सितंबर को हर्षलीन की मौत के शोक में स्कूल में छुंट्टी घोषित कर दी है। हर्षलीन की मौत की खबर पूरे स्कूल के लिए सदमे से भरी है। स्कूल में बच्चों और पेरेंट्स की किसी भी समस्या के लिए ट्रेंड काउंसलर नियुक्त किए गए हैं। जोकि बच्चों की रेगुलर बेस पर काउंसलिंग करते हैं। इस मामले में सिर्फ स्कूल को दोष देना सही नहीं है। पेरेंट्स को भी ऐसी स्थिति में बच्चों से लगातार संवाद बनाए रखना चाहिए।

-प्रवीणा जोन, प्रिंसिपल माउंट कॉर्मल स्कूल, सेक्टर-47, चंडीगढ़

Posted By: Jagran