चंडीगढ़, जेएनएन। कोरोना काल में स्टूडेंट्स को ऑनलाइन पढ़ाई के साथ किस प्रकार से सकारात्मक बनाकर रखा जा सकता है या फिर कैसे उन्हें आगे बढ़ने के लिए मोटिवेट किया जा सकता है इसके लिए स्कूल द्वारा करवाई जाने वाले एक्सट्रा एक्टीविटी अहम भूमिका निभाती है। इसी दिशा में बेहतर काम करने वाले स्कूलों को प्रशासन की तरफ से सम्मानित किया गया। यह सम्मान प्रशासन के पर्यावरण विभाग और क्रेस्ट ने युवसत्ता स्वयंसेवी संस्था की तरफ से कराया गया। जिसके बाद शहर के पांच स्कूलों का चुनाव करके उन्हें सम्मानित किया गया। यह सम्मान स्कूल की प्रिंसिपल द्वारा हासिल किया गया।

जानकारी देते हुए पर्यावरण विभाग डायरेक्टर और क्रेस्ट के सीईओ देबेंद्र दलाई ने कहा कि स्वयंसेवी संस्था के सहयोग से कोविडटाइम्स पीस प्राइज के लिए स्कूलों को आगे आने की अपील की गई थी जो कि सफल रही है। स्कूलों ने अलग-अलग एक्टीविटी करते हुए स्टूडेंट्स को मोटिवेट करने की दिशा में काम किया है जो कि सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि इस महामारी के समय में बच्चों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना और उनसे बेहतर आउटपुट लेना बहुत बड़ी चुनौती है लेकिन शहर के विभिन्न स्कूल इस दिशा में बेहतर काम कर रहे है।  

इन प्रिंसिपल को किया गया सम्मानित

सम्मान पाने वाले प्रिंसिपल में ब्लाइंड इंस्टीट्यूट सेक्टर-26 के प्रिंसिपल जेएस जायरा, गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल धनास की सीमा रानी, केबी डीएवी स्कूल सेक्टर-7 की पूजा प्रकाश, सेंट जोसेफ सीनियर सेकेंडरी स्कूल से मोनिका चावला और मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल से तरूणा वशिष्ठ मौजूद रही। वहीं युवसत्ता स्वयंसेवी संस्था के फाउंडर मेंबर प्रमोद शर्मा ने कहा कि आज के समय में स्कूल टीचर्स और प्रिंसिपल की तरफ से बेहतरीन काम किया जा रहा है जिसके चलते हमारे बच्चे मानसिक परेशानी का शिकार नहीं हो रहे है। ऐसे में हम दूसरे स्कूलों से भी अपील करते है कि वह स्टूडेंट्स के लिए बेहतर से बेहतर काम करें ताकि स्टूडेंट्स इस आपातकाल में बेहतर तरीके से बाहर निकल सकें।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Vinay Kumar