जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ पुलिस पर फायरिंग मामले में पुलिस ने तीन संदिग्धों को राउंडअप किया है। इंडस्ट्रियल एरिया थाना क्षेत्र में पुलिस की पेट्रोलिंग के दौरान होमगार्ड जवान को गोली मारने के मामले में पुलिस के वीरवार देर रात तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। इंडस्ट्रियल एरिया थाना पुलिस तीनों से पूछताछ करने के साथ उनके बयानों को भी वेरिफाई करने में लगी थी। वहीं, पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया कि कुछ दिन पहले उक्त जगह पर युवती से गन प्वाइंट पर लूट करने वाला आरोपित नशे की लत को पूरी करने के लिए वारदात करके भागा था। इसके बाद उसी स्थान पर अगले दिन पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी पर संदिग्ध आरोपित ने फायरिंग कर दी थी और मौके से फरार हो गया था। वहीं, हिरासत में लिए गए संदिग्धों में से दो नशेड़ी हैं। फिलहाल, थाना प्रभारी राम रतन शर्मा ने आरोपित की गिरफ्तारी से इन्कार किया।

सूत्रों के अनुसार पुलिस ने मामले में जिन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है, वे नशे के आदि हैं। अभी तक पुलिस की जांच में नशे की लत से ही लूट की वारदात करने की बात सामने आई है। देर रात तक पुलिस मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी डाल सकती है।

वहीं, इस मामले में क्राइम ब्रांच, डिस्ट्रिक्ट क्राइम सेल और थाना पुलिस की अलग-अलग टीमें वारदात स्थल से डंप डाटा उठाकर जांच में लगी हुई हैं। इंडस्ट्रियल एरिया थाना पुलिस मुख्य आरोपित को गिरफ्तार करती है तो आज  को प्रेस कांफ्रेंस भी कर सकती है।

गोली पेट में अटकी रहेगी

पुलिस पर की गई फायरिंग में होमगार्ड जवान प्रकाश नेगी को गोली लगी थी, उसके पेट में गोली लगने के बाद उसे जीएमसीएच-32 में भर्ती करवाया गया। हालांकि, अब पांच दिन बाद भी उसके पेट से गोली नहीं निकाल पाई है। सूत्रों के अनुसार गोली उसके पेट के एक कोने में फंस गई है। जिसे निकालने पर डॉक्टर खतरा बता रहे हैं। जबकि, गोली नहीं निकालने पर किसी तरह का नुकसान नहीं होने का बात कर रहे हैं। इस आधार पर अब गोली घायल के पेट में ही रहेगी। हालांकि, पुलिस अधिकारी अभी तक इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

Edited By: Ankesh Thakur