जासं, जीरकपुर : सिघपुरा चौक पर स्थित टैक्सी स्टैंड पर लोगों के साथ लूट की कई वारदातें हो चुकी हैं, लेकिन जीरकपुर पुलिस इस अवैध टैक्सी स्टैंड के मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। शुक्रवार शाम यहां लूट की एक और वारदात हुई। पीड़ित युवक अनिल कुमार ने बताया कि वह जीरकपुर के बिशनपुरा में ठेकेदार के पास इलेक्ट्रीशियन के तौर पर काम करता है। शुक्रवार को करीब पांच बजे अपने यूपी स्थित गांव सेजवान जिला बदायूं जाने के लिए वह सिघपुरा चौक पर बस पकड़े के लिए पहुंचा तो वहां उसे एक व्यक्ति मिला। उसने पूछा कि कहां जाना है तो अनिल कुमार ने कहा कि मुझे दिल्ली जाना है और वह बस का इंतजार कर रहा है। तो उस व्यक्ति ने कहा कि उसे भी दिल्ली जाना है। वह एक साथ टैक्सी में चले जाते हैं। टैक्सी जल्दी पहुंचा देगी और पैसे भी कम लगेंगे। इसके बाद अनिल कुमार टैक्सी में बैठ गया। टैक्सी में पहले से ही दो व्यक्ति मौजूद थे। जैसे ही टैक्सी ने डेराबस्सी पार किया तो उसके साथ बैठे व्यक्ति ने उसे डराना शुरू कर दिया। धमकाकर उसका बैग छीन लिया और उसे लालड़ू से थोड़ा आगे जाकर गाड़ी से नीचे उतार दिया। अनिल कुमार ने बताया कि टैक्सी में मौजूद तीनों व्यक्ति मिले हुए थे। अनिल ने बताया कि उनके बैग में 80 हजार रुपये कैश थे और उसका पर्स भी बैग में ही था, जिसमें एटीएम कार्ड मौजूद था। एटीएम के अंदर एक कागज पर पासवर्ड लिखा हुआ था जिसकी सहायता से लुटेरों ने एटीएम से उसके बैंक खाते से 40 हजार रुपये निकलवा लिए। लुटेरों ने उसका मोबाइल भी छीन लिया। थाना जीरकपुर पहुंचकर इसकी शिकायत दर्ज करवाई गई।

इस सबंध में थाना जीरकपुर के एसएचओ ओंकार ने कहा कि हमारे पास शिकायत आई थी, लेकिन यह वारदात डेराबस्सी क्षेत्र में हुई है। इस कारण केस डेराबस्सी थाने में भेज दिया गया है। लेकिन सिघपुरा चौक पर चल रहे टैक्सी स्टैंड पर किसी भी टैक्सी को आज के बाद खड़ा नहीं होने दिया जाएगा और इस टैक्सी स्टैंड को यहां से हटा दिया जाएगा।

वहीं दूसरी ओर इस मामले में थाना डेराबस्सी के एसएचओ जतिन कपूर ने बताया कि उनके पास ऐसी कोई भी शिकायत नहीं पहुंची है। जब शिकयत मिलेगी तो कार्रवाई होगी।

Edited By: Jagran