मोहाली, जेएनएन। पीरमुच्छला की बॉलीवुड हाइट्स-2 में बीते बुधवार रात को एक 16 वर्षीय प्रवासी गर्भवती लड़की के आत्महत्या मामले में शुक्रवार को मृतका के परिवार ने आरोपितों को पकड़ने की मांग को लेकर शव के अंतिम संस्कार से पहले रोष प्रदर्शन किया। मृतका के परिवार वालों ने हंगामा किया तो पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। वहीं, परिवार वालों ने पुलिस पर जबरन नाबालिग का अंतिम संस्कार कारवाने आरोपितों को बचाने के भी आरोप भी लगाए हैं। मृतका की मां का आरोप है कि उनकी लड़की के साथ दुष्कर्म किया गया है और जब वह गर्भवती हो गई तो उसे छत से फेंक दिया गया है।

उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम में खुलासा हुआ है कि वह सात महीने की गर्भवती थी, जबकि इससे पहले घर में किसी को इसकी भनक नहीं लगी। उन्होंने आरोप लगाया कि आरोपित लंबे समय से उनकी बेटी से दुष्कर्म कर रहा था और अब उसे डर सताने लगा कि वह फंसने वाला है तो उसने बेटी को 11वीं मंजिल से फेंक दिया। परिवारिक सदस्यों ने शक जताया है कि जिस घर में उनकी बेटी मेड का काम करती थी पुलिस उनसे कोई पूछताछ नहीं कर रही और मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। दूसरी तरफ पुलिस ने वीरवार रात को सिविल अस्पताल डेराबस्सी में शव का पोस्टमार्टम करवाया था। परिवार ने वीरवार रात को ही शव लेने से मना किया था।

शुक्रवार को पुलिस ने परिवार को कागजी कार्रवाई के लिए पुलिस स्टेशन बुलाया पर परिवार ने आने से मना कर दिया। पीड़ित परिवार ने मांग की है कि जब तक पुलिस उनकी दुष्कर्म के आरोपित को गिरफ्तार नहीं करती तब तक वह उस शव का संस्कार नहीं करेंगे। मामला गंभीर हो गया था और पुलिस फोर्स मंगवानी पड़ी।

मृतका के गर्भ से भ्रूण का डीएनए सैंपल लेकर लैब भेजा गया है। इस सैंपल को अब मृतका के पहचान वालों के साथ मेल करवाया जाएगा। जैसे ही पहचान होगी तो पहचान होने वाले आरोपित के खिलाफ बनती कार्रवाई की जाएगी। जहां लड़की काम करती थी उस परिवार के सदस्यों का भी सैंपल लिया जाएगा।

सुमित मोर, थाना ढकौली

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!