Move to Jagran APP

ED ने फारुक अब्‍दुल्‍ला से की साढ़े 6 घंटे की पूछताछ, क्रिकेट से जुड़े इस मामले पर पूछे 160 सवाल

ईडी चंडीगढ़ में अपने कार्यालय में जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारुक अब्‍दुल्‍ला से पूछताछ की। यह पूछताछ करीब साढ़े छह घंटे तक चली। इस दौरान ईडी ने उनसे 160 सवाल पूछे।

By Sunil Kumar JhaEdited By: Published: Wed, 31 Jul 2019 12:53 PM (IST)Updated: Thu, 01 Aug 2019 08:55 AM (IST)
ED ने फारुक अब्‍दुल्‍ला से की साढ़े 6 घंटे की पूछताछ, क्रिकेट से जुड़े इस मामले पर पूछे 160 सवाल

चंडीगढ़, जेएनएन। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला पर जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (JKCA) के घोटाला को लेकर घेरा कस गया है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने बुधवार को उनसे करीब साढ़े छह घंटे तक यहां पूछताछ की। फारुक अब्‍दुल्‍ला से ईडी के चंडीगढ़ के सेक्‍टर 18 स्थित कार्यालय में पूछताछ की। बताया जाता है कि ईडी ने अब्‍दुल्‍ला से करीब 160 सवाल पूछे। पूछताछ के बाद अब्दुल्ला ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है।

 फारुक अब्‍दुल्‍ला दिन में करीब 11 बजे यहां ईडी के कार्यालय पहुंचे। वह भारी सुरक्षा घेरे में ईडी के कार्यायल पहुंचे और अंदर चले गए। अब्‍दुल्‍ला के साथ उनका वकील भी थे, लेकिन उन्‍हें अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गई। इस दौरान ईडी कार्यालय के बाहर और आसपास कड़ी सुरक्षा की गई और किसी को भी ईडी के कार्यालय परिसर में जाने की इजाजत नहीं थी।

फारुक अब्‍दुल्‍ला से पूछताछ के दौरा ईडी कार्यालय के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मी।

बताया जाता है कि फारुक अब्‍दुल्‍ला के अंदर पहुंचने के बाद उनसे ईडी अफसरों की टीम पूछताछ में जुट गई। ईडी की ओर से पूछताछ के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। बताया जाता है कि फारुक अब्‍दुल्‍ला से पूछताछ में ईडी की जम्‍मू-कश्‍मीर की टीम भी शामिल थी। उनसे पूछताछ सुबह 11 बजे के बाद शुरू हुई और करीब 5.40 बजे वह ईडी के कार्यालय से निकले। यह भी चर्चा है कि उनसे बृहस्‍पतिवार को भी पूछताछ की जा सकती है, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

फारुक अब्‍दुल्‍ला से पूछताछ के दौरान ईडी कार्यालय के बाहर तैनात कर्मी।

यह है मामला

बता दें कि सीबीआइ ने जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ (JKCA) के कोष में कथित अनियमितताओं और गबन के मामले में फारुक अब्दुल्ला और तीन अन्य के खिलाफ श्रीनगर की एक अदालत में कुछ समय पहले आरोपपत्र दाखिल किया था। एजेंसी ने जेकेसीए के तत्कालीन अध्यक्ष अब्दुल्ला, तत्कालीन महासचिव मोहम्मद सलीम खान, तत्कालीन कोषाध्यक्ष अहसान अहमद मिर्जा और जे एंड के बैंक के एक कर्मचारी बशीर अहमद मिसगर पर आपराधिक साजिश और धोखाधड़ी के आरोप लगाए गए थे।

पूछताछ के बाद ईडी कार्यालय से बाहर जाते फारुक अब्‍दुल्‍ला।

जांच एजेंसी ने कहा था कि बीसीसीआइ ने 2002 से 2011 के बीच राज्य में क्रिकेट सुविधाओं के विकास के लिए 112 करोड़ रुपये दिए थे, लेकिन आरोपितों ने इस राशि में से 43.69 करोड़ रुपये का गबन कर लिया। बताया जाता है कि फारुक अब्‍दुल्‍ला से पूछताछ में ईडी ने घोटाले को लेकर कई सवाल किए। पूछताछ के बाद फारुक अब्‍दुल्‍ला शाम करीब 5.40 बजे ईडी ऑफिस से बाहर आए।

क्रिकेट फंड घोटाले में सुरक्षा कारणोंसे चंडीगढ़ में चली पूछताछ की प्रक्रिया

बताया जाता है कि क्रिकेट फंड घोटाले के मामले में सुरक्षा कारणों से श्रीनगर ईडी व चंडीगढ़ ईडी टीम के अधिकारियों ने अब्दुल्ला से चंडीगढ़ ईडी ऑफिस में पूछताछ की है। अधिकारियों के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय की जांच साल 2015 में कई करोड़ के घोटाले को लेकर सीबीआइ की तरफ से दर्ज कराई गई एफआइआर पर आधारित है। चर्चा है कि अब्दुल्ला से वीरवार को भी पूछताछ की जा सकती है, हालांकि आधिकारिक तौर पर अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

पूछे गए 160 से ज्यादा सवाल
सूत्रों के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला से प्रवर्तन निदेशालय की चंडीगढ़ व श्रीनगर की टीम ने संयुक्त रूप से पूछताछ की। इस दौरान उनसे करीब 160 सवाल पूछे गए। हालांकि अब्दुल्ला की ओर से  जवाब देने में सहयोग करने के सवाल पर ईडी ने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया है। इस दौरान ईडी कार्यालय परिसर में एक एंबुलेंस भी खड़ी थी। 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.