Move to Jagran APP

Chandigarh News: पंजाब में इसी वर्ष लागू होगी ई चालान व्यवस्था, ट्रैफिक विंग ने कसी कमर

Chandigarh News वाहन चलाने के लिए सुरक्षित सड़कें मिले इसके लिए पंजाब पुलिस के ट्रैफिक विंग ने 2023 के लिए 11 प्वाइंट्स एजेंडा तैयार किया है। पुलिस प्रभावी उपायों और तकनीक के माध्यम से लोगों में सड़क सुरक्षा को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए काम करेगी।

By Jagran NewsEdited By: Ashisha Singh RajputFri, 06 Jan 2023 05:40 PM (IST)
2023 के लिए ट्रैफिक विंग ने बनाया 11 प्वाइंट्स का एजेंडा।

चंडीगढ़, जागरण संवाददाता। राज्य के लोगों को वाहन चलाने के लिए सुरक्षित सड़कें मिले इसके लिए पंजाब पुलिस के ट्रैफिक विंग ने 2023 के लिए 11 प्वाइंट्स एजेंडा तैयार किया है। दैनिक जागरण की ओर से सड़क सुरक्षा को लेकर चलाए गए महाअभियान के तहत कई मुद्दों को उठाया था, जिसके बाद ट्रैफिक विंग ने एक कुशल और सुरक्षित यातायात वातावरण बनाने का प्रयास करने की बात कही है।

पुलिस प्रभावी उपायों और तकनीक के माध्यम से लोगों में सड़क सुरक्षा को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए काम करेगी। इसके साथ ही सड़कों के बुनियादी ढांचे में सुधार और संबंधित हितधारकों के बीच बेहतर समन्वय भी सुनिश्चित किया जाएगा।

ट्रैफिक विंग के अधिकारियों का कहना है कि इस वर्ष का उद्देश्य सड़क पर चलने वालों में जिम्मेदारी की भावना को बढ़ाना, सड़क दुर्घटनाओं और मौतों को कम करना है। यातायात नियमों का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए इसी वर्ष ई-चालान प्रणाली की शुरूआत भी की जाएगी।

ट्रैफिक विंग का होगा पुनर्गठन

पुलिस अधिकारियों के अनुसार सड़कों पर प्रभावी यातायात प्रबंधन और प्रवर्तन सुनिश्चित करने के लिए ट्रैफिक विंग का पुनर्गठन होगा। इसमें नई तकनीक की शुरुआत, निवारक उपायों पर ध्यान केंद्रित करने और अन्य विभागों के साथ सहयोग बढ़ाने सहित विंग के संचालन के तरीके में कई बदलाव किए जाएंगे। वैज्ञानिक तरीके से यातायात प्रबंधन को संभालने के लिए सड़क सुरक्षा पेशेवरों को विभाग में शामिल किया जाएगा।

150 हाइवे पेट्रोलिंग वाहन तैनात किए जाएंगे

15 सड़क सुरक्षा पेशेवर 2023 में ट्रैफिक पुलिस विंग में शामिल होंगे। राज्य के राजमार्गों पर 150 हाइवे पेट्रोलिंग वाहन तैनात किए जाएंगे। जनता और अन्य संबंधित संगठनों सहित सभी हितधारकों के साथ बेहतर संचार के माध्यम से पुलिस प्रभावी संचार प्रणाली की स्थापना करेगी, जो यातायात संबंधी मुद्दों और आपात स्थितियों पर त्वरित प्रतिक्रिया करने में सक्षम बनाने में सहायक होगी।

कुशल यातायात प्रबंधन और प्रवर्तन सुनिश्चित करने के लिए अत्याधुनिक तकनीक अपनाई जाएगी। इसमें स्मार्ट बैरिकेड्स, 5जी सक्षम सीसीटीवी कैमरा नेटवर्क, बाडी कैमरा और कांटैक्टलेस चालान और गति प्रबंधन प्रणाली जैसी अत्याधुनिक तकनीकों की शुरुआत शामिल है। सार्वजनिक सुरक्षा और जागरूकता सुनिश्चित करने के लिए एक व्यापक सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम तैयार होगा।

यातायात प्रबंधन में सुधार के लिए डेटा एनालिटिक्स शामिल हो

इसमें ट्रैफिक एजुकेशन सेल के माध्यम से प्राथमिक चिकित्सा और बुनियादी सड़क सुरक्षा पर जागरूकता शामिल होगी। सुरक्षित यातायात प्रबंधन सुनिश्चित करने के लिए मौजूदा बुनियादी ढांचे और सुविधाओं में सुधार होगा। इसमें ब्लैक स्पाट की पहचान की जाएगी।

राज्य में यातायात की स्थिति की निगरानी और विश्लेषण के लिए एक व्यापक डेटा-संचालित प्रणाली भी विकसित की जाएगी। ट्रैफिक विंग 2023 में वैज्ञानिक दृष्टिकोण का उपयोग करके यातायात प्रबंधन में सुधार के लिए उन्नत तकनीक और डेटा एनालिटिक्स शामिल किया जाएगा।