जेएनएन, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के आदेश पर पुलिस हेडक्वार्टर ने एक युवती को नशे में धकेलने और दुष्‍कर्म करने के आरोप में डीएसपी दलजीत सिंह को निलंबित कर दिया है। लुधियाना की रहनेवाली एक युवती ने आरोप लगाया था कि डीएसपी ने उसे नशे का आदी बना दिया और वह उससे दुष्‍कर्म करता था। इस पर काफी हंगामा हो गया था आैर विपक्षी दलों ने कैप्‍टन सरकार को निशाने पर ले लिया था।

इस युवती ने बुधवार काे यह आरोप लगाया था। इसके बाद विपक्ष ने सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कार्रवाई की मांग की थी। कांग्रेस विधायकों ने भी मामले को बेहद गंभीर बताया था। डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने वीरवार देर शाम डीएसपी को निलंबित कर दिया। हेडक्वार्टर ने मामले की पड़ताल के लिए आइपीएस अधिकारी अनीता पुंज को प्राथमिक जांच की जिम्मेवारी सौंपी गई। पुंज एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट सौंपेंगी।

डीएसपी दलजीत की तैनाती अभी फिरोजपुर में थी। लुधियाना के पुलिस कमिश्नर की मांग पर मामले की निष्पक्ष जांच के लिए महिला आइपीएस पुंज को जिम्मेदारी सौंपी गई है। युवती ने डीएसपी पर उसे नशेड़ी बनाने, दुष्कर्म करने और फिर अन्य लड़कियों को हेरोइन बेचने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है।

युवती ने स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिंदरा समेत पांच विधायकों की मौजूदगी में कपूरथला में भी यह आरोप लगाए थे। वीरवार को उसने लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस व नेता विपक्ष सुखपाल सिंह खैहरा की मौजूदगी में यह आरोप दोहराए।  इसके बाद से ही सरकार पर कार्रवाई को लेकर दबाव बढ़ गया था।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!