जागरण संवाददाता, जीरकपुर :

नगर काउंसिल की ढीली कार्यप्रणाली का फायदा कालोनाइजर उठा रहे हैं। आलम यह है कि अब जीरकपुर में बिना खौफ धड़ल्ले से अवैध निर्माण बन रहे हैं। उसका बड़ा कारण यह है कि नगर काउंसिल जब तक अपनी कुंभकर्णी नींद से जागकर कार्रवाई करने पहुंचता हैं तब बिल्डर फ्लैट बेचकर भी चले जाते हैं। बलटाना एरिया में सैनी विहार -4 के नाम से कालोनाइजर रजिदर सैनी अवैध कालोनी विकसित कर रहा है। हालांकि दो महीने पहले इसकी शिकायत एडीसी मोहाली पूजा सियाल को कई थी जिस पर संज्ञान लेते हुए एडीसी ने नगर काउंसिल को कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। उस समय नगर काउंसिल ने यहां निर्माण तोड़कर काम बंद करवा दिया था। लेकिन दो महीने बाद अब रजिदर सैनी दोबारा से नगर काउंसिल अधिकारियों की मिली भगत से अवैध कालोनी का निर्माण धीमी गति से कर रहा है। इस मामले की शिकायत वार्ड नंबर-1 की पार्षद के पति प्रताप राणा ने उच्चाधिकारियों से की थी। जिस पर बुधवार को डिप्टी डायरेक्टर निकाय विभाग परमिदर सिंह सराओ टीम लेकर मौका देखने पहुंचे थे, जहां सोसायटी का अवैध तौर से जोड़ा पानी का कनेक्शन काट दिया गया है। जांच में सामने आया कि रजिदर सैनी ने सोसायटी के पास स्थित राम विहार से नाजायज पानी का कनेक्शन जोड़ा हुआ था। इस संबंधी जब रजिदर सैनी से संपर्क करने के लिए फोन किया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। सुखना चौ पर भी कब्जा

रजिदर सैनी जहां अवैध कालोनी विकसित कर रहा है उसके ठीक पीछे सुखना चौ (कुदरती बहाव) है। यहां कोर्ट ने धारा 55 लगाई हुई है। इस धारा के तहत इस सुखना चौ से किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। लेकिन चौ के कुछ हिस्से पर कब्जा कर वहां कोठियों का निर्माण कर बेचा जा रहा है। इस संबंध में भी नगर काउंसिल के अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की। अवैध कनेक्शन के लिए शिकायत मिली थी। आज मौके पर जाकर कनेक्शन को काट दिया गया है। विभाग की ओर से पुलिस कार्रवाई के लिए शिकायत दी जाएगी।

- परमिदर सिंह सराओ, डिप्टी डायरेक्टर निकाय विभाग।

Edited By: Jagran