जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित के आदेशों पर प्रशासन के सभी विभागों से ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों का तबादला किया जा चुका है जो कि कई सालों से एक ही विभाग में तैनात थे।डीसी आफिस के अतिक्रमण हटाओ दस्ते में भी तबादले किए गए। नगर निगम के भी कई विभागों में ऐसे कर्मचारियों के तबादले इधर-उधर किए गए हैं, लेकिन नगर निगम के अतिक्रमण हटाओ दस्ते में ऐसे कई सब इंस्पेक्टर हैं ऐसे हैं जो कि कई सालों से इसी विभाग में तैनात हैं। इनका ट्रांसफर दूसरे विभाग में नहीं किया गया है।

अतिक्रमण हटाओ दस्ते के सब इंस्पेक्टरों का दावा है कि यह उनका कैडर है, ऐसे में उनका तबादला दूसरे विभाग में नहीं हो सकता। पार्षदों और अन्य लोगों का कहना है कि ऐसा कोई नियम नहीं है। कई साल पहले अतिक्रमण हटाओ दस्ते के सब इंस्पेक्टरों को एमओएच में सब इंस्पेक्टर लगाया गया था।

भाजपा पार्षद महेश इंद्र सिद्धू का कहना है कि जब सभी विभागों के कर्मचारियों के विभाग बदले जा रहे हैं तो अतिक्रमण हटाओ दस्ते के सब इंस्पेक्टरों का भी तबादला होना चाहिए। पिछले साल अतिक्रमण हटाओ कमेटी की बैठक में भी सब इंस्पेक्टरों में तबादले का निर्णय लिया गया था, लेकिन फैसले को आज तक लागू नहीं किया गया। सिद्धू का कहना है कि उन्होंने यह मामला मंगलवार की सदन की बैठक में उठाना था, लेकिन बैठक स्थगित हो गई। अब वह यह मामला अगली सदन की बैठक में उठाएंगे।

उन्होंने आरोप लगाया कि नगर निगम सिर्फ खानापूर्ति के लिए सब इंस्पेक्टरों का एरिया बदल देता है, जबकि सब इंस्पेक्टर ऐसा कोई एरिया नहीं है जहां पर वह पिछले दिनों काम न कर चुके हों। चार माह पहले अतिक्रमण हटाओ दस्ते के सुपरिंटेंडेंट का तबादला दूसरे विभाग में किया गया था।

व्यापारियों का कहना है कि सब इंस्पेक्टरों का भी तबादला किया जाना चाहिए। कई पार्षद भी यह मामला निगम कमिश्नर के समक्ष उठा चुके हैं। अतिक्रमण हटाओ दस्ते में जो लेबर है वह भी कई सालों से इसी विभाग में तैनात है। नगर निगम के ज्वाइंट कमिश्नर पवित्र सिंह को अतिक्रमण हटाओ दस्ते की जिम्मेदारी दी गई है। वह खुद शहर के अतिक्रमण की मानिटरिंग कर रहे हैं। वह रात के समय जो अतिक्रमण हो रहा है उस पर कार्रवाई करने की योजना बना रहे हैं।      

सब इंस्पेक्टरों के एरिया बदले 

नगर निगम के अतिक्रमण हटाओ दस्ते के सब इंस्पेक्टरों के एरिए बदले हैं। अब ग्रामीण एरिया अलग-अलग एरिया में जोड़ दिए गए हैं। पहले पूरे शहर के गांव में अतिक्रमण हटाने की जिम्मेदारी एक ही सब इंस्पेक्टर को दी जाती थी। जोन-1 का प्रभारी इंस्पेक्टर अवतार सिंह और जोन-2 का प्रभारी डीपी सिंह को बनाया गया है, जबकि पहले डीपी सिंह जोन-1 के प्रभारी थे। जारी आदेश के अनुसार सब इंस्पेक्टर राजेश को सेक्टर-1 से 12, खुड्डा अलीशेर, कैंबवाला, खुड्डा जस्सू और खुड्डा लाहौर से अतिक्रमण हटाने की जिम्मेदारी दी गई है। सब इंस्पेक्टर रजत शर्मा को सेक्टर-5, 14,15,16, सारंगपुर और धनास का एरिया दिया गया है।

सब इंस्पेक्टर साहिल भोला को सेक्टर-17, सब इंस्पेक्टर दीपक कुमार को बापूधाम, सेक्टर-19,27 और 28, सब इंस्पेक्टर वेद प्रकाश को मनीमाजरा, मौलीजागरां और किशनगढ़ के एरिया में लगाया गया है। सब इंस्पेक्टर भूपेंद्र कौर को मक्खन माजरा, औद्योगिक क्षेत्र के फेज-1, रायपुरकलां, दड़वा और रायुपर खुर्द के एरिया में तैनात किया गया है। जोन-2 में सब इंस्पेक्टर रवि कुमार को सेक्टर-20, 21, 30, 32, 34 और 35 के एरिया में तैनात किया गया है। सब इंस्पेक्टर ललित त्यागी को सेक्टर-22 में तैनात किया गया है।

विवेक इंद्र सैनी को सेक्टर-23, 24, 25, 36, 37, 38, 39 और डड्डूमाजरा में तैनात किया गया है। सब इंस्पेक्टर निर्मल सिंह को सेक्टर-40, 41, 42, 43, 53, 54, 56, मलोया, बुटरेला, पलसोरा और अटावा का एरिया दिया गया है। सब इंस्पेक्टर रतन को सेक्टर-44, 45, 46, 48, 49, 50, 51, 52, 61, 62, 63, बुड़ैल, कजेहड़ी और फैदां का एरिया दिया गया है। सब इंस्पेक्टर रवि को बहलाना, औद्योगिक क्षेत्र के फेज-2, हल्लोमाजरा, रामदरबार, सेक्टर-29, 31 और 37 के एरिया में अतिक्रमण हटाने की जिम्मेदारी दी गई है।

Edited By: Ankesh Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट