चंडीगढ़ [विशाल पाठक]। बिहार में बैठी दुल्हन उपहार के रूप में मिलने वाले शादी के जोड़े का इंतजार करती रही, लेकिन शादी के दिन तक उसे यह उपहार नहीं मिला। उसे चंडीगढ़ में रहने वाले रिश्तेदार ने शादी का जोड़ा कोरियर सर्विस के माध्यम से भिजवाया था। कुरियर कंपनी ने दावा किया था कि यह उपहार शादी से पहले पहुंच जाएगा, लेकिन शादी का जोड़ा नहीं पहुंचा। मामला उपभोक्ता फोरम में पहुंचा। अब उपभोक्ता फोरम ने ट्रैकऑन कुरियर सर्विस प्रोवाइडर पर 10 हजार रुपये जुर्माना लगाया है। साथ ही शादी के जोड़े की कीमत भी वापस करने के आदेश दिए हैं।

शहर निवासी एक शख्स ने रिश्तेदार की बेटी की शादी के लिए चंडीगढ़ से बिहार शादी का जोड़ा व कपड़े कोरियर के जरिए भेजे, लेकिन कोरियर सर्विस प्रोवाइडर दुल्हन को उसकी शादी का जोड़ा समय पर उपलब्ध नहीं करा सका। इसके चलते दुल्हन को अपनी शादी वाले दिन आनन-फानन दूसरा शादी का जोड़ा खरीदना पड़ा। यहां तक कि शादी के कई दिन बाद भी शादी का जोड़ा उस तक नहीं पहुंचा। इस पर कंज्यूमर कोर्ट ने

सेक्टर-22ए निवासी मोहम्मद फिरोज खान ने 2 नवंबर 2017 को रिश्तेदार की बेटी की शादी के लिए शादी का जोड़ा व अन्य कपड़े जिसकी कीमत 10,431 रुपये थी, बिहार के भागलपुर भेजने के लिए ट्रैकऑन कोरियर प्राइवेट लिमिटेड से सर्विस ली थी। फिरोज के रिश्तेदार की बेटी की शादी 4 नवंबर 2017 को थी।

जब फिरोज ने कोरियर कंपनी से दुल्हन के शादी का जोड़ा व कपड़े भिजवाने के लिए सेवाएं बुक की तो उस समय कंपनी का दावा था कि उनका सामान शादी से एक दिन पहले उन तक पहुंच जाएगा, लेकिन फिरोज के रिश्तेदार की बेटी के शादी वाले दिन तक कपड़े उस तक नहीं पहुंचे। इस पर शिकायतकर्ता मोहम्मद फिरोज खान ने कंज्यूमर कोर्ट में शिकायत दायर की थी।

कोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए कोरियर सर्विस प्रोवाइडर को नोटिस कर जवाब मांगा। द ट्रैकऑन कोरियर प्राइवेट लिमिटेड की ओर से कोर्ट में दायर जवाब में कहा गया कि बुकिंग करते समय कस्टमर ने उन्हें एक प्रतिशत एफओवी चार्ज नहीं दिया था, जो कि सिक्योरिटी के लिए लिया जाता है।

कंज्यूमर कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद कोरियर सर्विस प्रोवाइडर को आदेश जारी कर दुल्हन की शादी के जोड़े व कपड़े की कीमत 10,431 रुपये देने के आदेश जारी किए हैं। कोर्ट ने कोरियर सर्विस प्रोवाइडर को 300 रुपये सर्विस के तौर पर चार्ज किए गए लौटाने के आदेश दिए। इसके अलावा द ट्रैकऑन कोरियर प्राइवेट लिमिटेड पर कुल 10 हजार रुपए जुर्माना लगाया है। जिसमें 7 हजार रुपये शिकायतकर्ता को मानसिक रूप से प्रताडि़त किए जाने और 3 हजार रुपये मुकदमा राशि देने के लिए कहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt