जेएनएन, मोहाली (चंडीगढ़)। बाॅलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी और अभिनेता सोहेल खान जैसे कलाकारों को समारोहों में बुलाकर लोगों को चूना लगाने वाले दंपती को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उन पर लोगों से करीब 400 करोड़ रुपये की ठगी करने का आरोप है। यह दंपती लोगों ने 11 महीने में क्रिप्टो करंसी द्वारा रकम दोगुना करने का झांसा देता था।

प्रोडक्शन कंपनी खोल फिल्म व क्रिप्टो करंसी में पैसा इनवेस्ट करने झांसा देते थे लोगों को

मोहाली पुलिस ने दंपती ब्लू फोकस मोशन पिक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर मनु प्रशांत विग व उसकी पत्नी पूजा चौधरी विग को दिल्ली से गिरफ्तार किया। आरोपित अपने फंक्शन में सोहेल खान, सनी लियोनी और अन्य चर्चित चेहरों को बुलाते थे, जिससे लोग उन पर भरोसा कर लें।

यह भी पढ़ें: विदेशी रेसलर से पिटने के बाद राखी सावंत बोलीं- बदला लेना है, खली भाई बुलबुल को बुलाओ

आरोपितों में एक प्रियांश सिन्हा भोजपुरी फिल्मों का एक्टर, वह अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर

दंपती के अलवा आरोपितों में से एक प्रियांश सिन्हा भोजपुरी फिल्मों का एक्टर है। वह अभी पुलिस गिरफ्त में नहीं आ सका है। अन्य आरोपितों में मनु प्रशांत विग, उसके पार्टनर अशोक विग, पंकज गोयल और हरजीत सिंह शामिल हैं। ये सभी मोहाली के फेज-11 के रहने वाले हैं। पुलिस गिरफ्त में आए दंपती को मोहाली अदालत में पेश किया गया, जहां से सात दिन के रिमांड पर लिया गया है। आरोपितों के खिलाफ 10 अक्टूबर को मोहाली के फेज-11 थाने में चंडीगढ़ के सेक्टर-32 निवासी विशाल बंसल की शिकायत पर केस दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ें: सलमान खान की फिल्‍म शूटिंग से किसान परेशान, गांव जोधां बना 'पाकिस्तान'

आरोपितों ने लोगों को कंपनी से जोड़ने के लिए सेमिनार व फिल्म प्रमोशनल फंक्शन भी करवाए, जिसके लिए उन्होंने काफी खर्च किया। ये आयोजन पंचकूला के होटल होलीडे, जीरकपुर के रमाडा के अलावा चंडीगढ़ के नामी होटलों में होते थे। इनमें फर्जी खबरों के सहारे दिखाया जाता था कि उनकी कंपनी में लोग 125 करोड़ रुपये से अधिक पैसा लगा चुके हैं। आरोपितों ने बीएफएम पिक्चर, बीएफएम पिक्चर एलएलपी, पीडी विंग सर्विस के नाम से तीन कंपनियां खोलकर उनके तीन अलग-अलग प्रोडक्शन अकाउंट खुलवा रखे थे।

यह भी पढ़ें: इस बेटे पर सबको होगा नाज, फर्ज का कर्ज उतार रहा 14 साल का किसान

विश्वास जमाने के लिए कुछ लोगों को पैसे लौटाए भी

आरोपितों ने लोगों में विश्वास पैदा करने के लिए उनके भी ऑनलाइन एकाउंट खुलवाए। इन एकाउंट को कंपनी की बेवसाइट पर खाता नंबर व पासवर्ड डालकर अपने खाते में जमा राशि को देख सकते थे, परंतु ये खाते केवल दिखावे के लिए थे, इनमें से बढ़ी हुई राशि निवेशक कभी निकाल ही नहीं सकते थे। पहले कंपनी ने लोगों के कुछ पैसे लाभ के हिस्से के तौर पर वापस भी किए, जिससे उनमें विश्वास बना और उन्होंने कंपनी में मोटी रकम लगा दी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!