शंकर सिंह, चंडीगढ़ : कोरोना वायरस के बाद से बिल्डर्स नए हेल्दी कासेप्ट लेकर आ रहे हैं। लोगों में स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता आने से विदेशी तर्ज पर ग्रीनरी कासेप्ट के अलावा इन हाउस ऑर्गेनिक फार्मिग, बेसमेंट कार्बन मोनोऑक्साइड सेंसर, इलेक्ट्रिक कार चार्जिग प्वाइंट जैसी सुविधाएं भी दे रहे हैं। इन हाउस ऑर्गेनिक फार्मिग कांसेप्ट देखने को मिला

सुषमा ग्रुप के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर प्रतीक मित्तल ने कहा कि इन दिनों हाउसिग कांसेप्ट पर काफी बदलाव है। लोग एयर क्वालिटी इंडेक्स को बेहतर करने से जुड़े ग्रीनरी कांसेप्ट, बेसमेंट कार्बन मोनोऑक्साइड सेंसर, इलेक्ट्रिक कार चार्जिग प्वाइंट जैसी सुविधाएं चाहते हैं। इन हाउस ऑर्गेनिक फार्मिग का कांसेप्ट भी निकलकर सामने आएगा। कम प्रदूषण के लिए जीरो डिस्चार्ज डेवलपमेंट का कांसेप्ट की डिमांड भी आई है। लोग एक ही जगह ऐसी सुविधाएं चाह रहे हैं। वर्क फ्रॉम होम के लिए घर में चाह रहे हैं ऑफिस स्पेस

ओमैक्स लिमिटेड के सीईओ मोहित गोयल ने कहा कि लोग घरों में स्वस्थ और सुरक्षा से जुड़ी सभी प्रकार की सुविधा चाहते हैं। साथ ही वर्क फ्रॉम होम के लिए घर में वर्क स्पेस की डिमांड भी कर रहे हैं। हम लुधियाना, न्यू चंडीगढ़, लखनऊ के प्रोजेक्टों में घर के अंदर ऑफिस स्पेस, बड़ी बालकनी, पर्सनल छत, बिल्ट-इन सेनिटाइजेशन और एयर फिलेटर्स जैसी आधुनिक सुविधाएं देने की योजना बना रहे हैं। घर के इर्द-गिर्द वेलनेस सेंटर जैसी सुविधा चाहते हैं लोग

जीबीपी ग्रुप के डायरेक्टर-ब्रांडिग रमन गुप्ता ने कहा कि लोग स्वच्छता और स्वास्थ्य को महत्व दे रहे हैं। जिसमें रेडी टू मूव इन होम्स, इंटेग्रेटेड टाउनशिप व घरों में ऑफिस स्पेस के लिए रूचि दिखा रहे हैं। इसके साथ आधुनिक जीवनशैली में वेलनेस एरिया जैसे मेडिटेशन व योगा सेंटर भी शामिल होंगे। सोसायटी में मेंटेनेंस टीम और रेजिडेंट्स के सेफ्टी का ध्यान रखेगी। कोरोना वायरस की वजह से लोगों में आई ये जागरूकता भविष्य की हाउस कांसेप्टिंग को बदल रही है।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!