जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। शहर के सभी स्कूलों (Chandigarh Schools) में बच्चों की सुविधा के लिए शिकायत पेटी (Complain Box) लगाई जाएगी। इस शिकायत पेटी लगाने का मकसद विद्यार्थियों की समस्याओं को हल करना है। यह शिकायत पेटी स्कूल की एंट्री गेट पर स्थापित की जाएगी, ताकि स्कूल आना वाला हर बच्चा यदि उसके कोई परेशानी है तो वह अपनी समस्या को एक नोट बनाकर उसमें डाल सकें और स्कूल काउंसलर उनकी परेशानी को बात करके दूर कर सके। ऐसा करने का मकसद विद्यार्थियों की समस्याओं का तुरंत प्रभाव से हल करना है।

यह सुझाव बाल विशेषज्ञ डॉ. रीतिका अग्रवाल ने सीसीपीसीआर द्वारा आयोजित स्ट्रेस मैनेजमेंट वर्कशॉप में स्कूल काउंसलर को दिए। कमीशन की तरफ से दो दिवसीय वर्कशॉप में स्कूल काउंसलर के साथ जीएमसीएच-32 से बाल विशेषज्ञ ने भाग लिया। डॉ. रीतिका ने कहा कि स्टूडेंट्स हर बार परेशानी काउंसलर से सीधे तौर पर नहीं बता सकता। यदि बच्चा लिखकर खुद की शिकायत देता है तो काउंसलर बच्चे से बात करने के साथ उनके माता-पिता से बात कर सकते है और बच्चे को स्ट्रेस से निकाल सकते हैं।

सरकारी और प्राइवेट सभी स्कूलों में लगाई जाएंगी शिकायत पेटी: हरजिंदर कौर

सीसीपीसीआर चैयरपर्सन हरजिंदर कौर ने कहा कि शहर में 115 सरकारी और 75 प्राइवेट स्कूलों को शिक्षा विभाग से निर्देश जारी करवाएगा, ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चों की परेशानी दूर हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में बच्चों की मानसिक स्थिति पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है। जैसे ही बच्चा स्कूल आता है तो वह खुद की परेशानी लिखकर दे सकता है।

Edited By: Ankesh Thakur