जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : प्रशासन ने दशहरा पर आतिशबाजी न चलाने पर पाबंदी लगाई है, लेकिन भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने प्रशासन को जवाब देते हुए कहा कि दशहरा दशहरे की तरह मनाया जाना चाहिए और हम मनाएंगे। वीरवार को शहर की अलग-अलग दशहरा कमेटियां भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद से बैठक करने पहुंची थी। भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने सभी आयोजक कमेटियों को आश्वासन दिया कि वह अपने तरीके से दशहरा मनाएं, पार्टी उनके साथ है। आयोजक कमेटियों को यह भी आश्वासन दिया गया है कि किसी पर भी कोई कार्रवाई नहीं होने दी जाएगी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वह खुद भी शुक्रवार चार अलग-अलग जगह दशहरा में भाग लेने के लिए जा रहे हैं। मालूम हो कि इस समय शहर में दशहरा मना रही आयोजक कमेटियों में भ्रम की स्थिति बनी हुई है कि वह आतिशबाजी का प्रयोग करें या नहीं।

सूद ने प्रशासक से भी की बात

दशहरा पर आतिशबाजी पर पाबंदी लगाने के मामले में भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित और सलाहकार धर्म पाल से भी बात की। प्रशासन के अधिकारियों ने एनजीटी के आदेशों का हवाला दिया, जिसके बाद भाजपा अध्यक्ष ने एनजीटी के आए आदेशों को स्टडी किया है। पिछले सालों में दशहरा मनाने पर प्रदूषण का स्तर बढ़ा था, जबकि पंचकूला और मोहाली में चंडीगढ़ के मुकाबले में कम प्रदूषण हुआ था। वहीं, कई शहरवासी मोहाली और पंचकूला में मनाए जाने वाले दशहरा को देखने के लिए परिवार के साथ जा रहे हैं। एनजीटी के आदेशों में पटाखे जलाने पर नहीं रोक : सूद

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अरुण सूद ने प्रशासक और सलाहकार से बात की और पुलिस प्रशासन से भी बात की। उन्होंने इन अधिकारीयो को बताया कि एनजीटी का आर्डर दशहरा के लिए नहीं है और कहा कि दशहरा हिदुओं का बड़ा त्योहार है। दशहरे पर रावण दहन सदियों पुरानी रीत है और पुतले में पटाखे जलाए ही जाते हैं। यह हिदुओं की आस्था का सवाल है न केवल हिदू बल के प्रत्येक भारतवासी दशहरा को बड़े धूमधाम से मनाता है। इसलिये इस त्योहार पर पटाखों पर बैन लगाना ठीक नहीं है। जिस पर प्रशासन ने सकारात्मक रैवैया दिखाया व अरुण सूद ने घोषणा की कि दुशहरे का त्योहार पूर्व की तरह धूमधाम से मनाया जाएगा। किसी प्रकार की कोई कटौती नहीं होगी।

Edited By: Jagran