राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा में लुधियाना के मत्तेवाड़ा में टेक्सटाइल पार्क बनाने का सदन ने विरोध किया। हालांकि मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान इसके हक में दिखे। उन्होंने सदन को विभिन्न गांवों की ली जाने वाली जमीन के बारे में भी जानकारी दी।

उन्होंने लुधियाना के मत्तेवाड़ा के पास प्रस्तावित ‘मेगा इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल रीजन एंड अपैरल पार्क’ में किसी भी तरह के नदी प्रदूषण की इजाजत नहीं दी जाएगी और केंद्र और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों द्वारा निर्धारित सभी पर्यावरणीय मंजूरियों और मापदंडों का पूरा पालन किया जाएगा।

विधायक हरदीप सिंह मुंडियां द्वारा सदन में लाए ध्यानाकर्षण नोटिस के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने इच्छुक राज्य सरकारों की हिस्सेदारी के साथ 7 पीएम मेगा इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल रीजन एंड अपैरल पार्क ( पीएम मित्र) की स्थापना के लिए योजना को मंजूरी दे दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसको सुनिश्चित बनाने के लिए पर्यावरण संबंधी कानूनों की पालना की जाएगी, जिससे नदियों का पानी दूषित ना हो और न ही लोगों के स्वास्थ्य पर कोई बुरा प्रभाव पड़े। उन्होंने कहा कि यह प्रमुख योजना एक ओर निवेश को आकर्षित करने में मदद करेगी और दूसरी ओर नौजवानों के लिए रोजग़ार के नए रास्ता खोलेगी।

भगवंत मान ने कहा कि इस परियोजना के लिए 1000 एकड़ जमीन उपलब्ध करवाई जा रही है। तहसील कूमकलां (लुधियाना) में जमीन को चिन्हित कर लिया है। भगवंत मान ने बताया कि गाँव गढ़ी फज़़ल, हैदर नगर और गर्चा में कुल 463.4 एकड़ सरकारी जमीन पहले ही खाली सरकारी भूमि के इष्टतम उपयोग (ओयूवीजीएल) योजना के अंतर्गत पुडा को हस्तांतरित किया जा चुका है।

गांव सेखोवाल, सैलकियाना और सलेमपुर में 493.99 एकड़ पंचायती जमीन है, जिसके लिए पंचायतों को भुगतान करने के बाद जमीन पुडा को भी हस्तांतरित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इस तरह पुडा ने 957.39 एकड़ भूमि का अधिग्रहण कर लिया है और शेष भूमि का भी जल्द ही अधिग्रहण कर लिया जाएगा, जिससे 1000 एकड़ भूमि की आवश्यकता को पूरा किया जा सके।

उन्होंने यह भी आश्वासन दिया गया कि इसमें लगने वाली इंडस्ट्री में स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा, लेकिन स्पीकर कुलतार सिंह संधवां मुख्यमंत्री के आश्वासन से सहमत होते नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि वह स्पीकर के पद पर बैठे हैं, इस पर बोल नहीं सकते।

कांग्रेस के विधायक परगट सिंह ने कहा कि यह बाढ़ वाला एरिया है। वहां के लोगों ने विरोध भी किया है। परगट सिंह ने यह भी कहा कि स्पीकर कुलतार सिंह संधवा, आप के विधायक अमन अरोड़ा आदि सभी इस साइट पर गए और इसका वहां जाकर विरोध किया। मेरे पास इसका वीडियो हैं।

विपक्ष के नेता प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि इतिहास हमें माफ नहीं करेगा कि हमने सारा पर्यावरण खराब कर दिया। उन्होंने कहा कि इस पर पुनर्विचार करें।  बाजवा ने कहा कि लाेग हमें माफ नहीं करेंगे। मैं यह नहीं कह रहा कि आप इंडस्ट्री न लगाओ। पंजाब में बहुत सी जमीन पड़ी वहां लगवा लो।

Edited By: Kamlesh Bhatt