मोहाली, जेएनएन। पिछले एक दशक से मोहाली शुरू होने वाली सिटी बस सेवा का फिर से लटक गई है। इस सेवा के लिए लोगों को अभी ओर इंतजार करना होगा। अब नगर निगम को इस प्रोजेक्ट के लिए फिर से नए सिरे से काम करना होगा। जानकारी के मुताबिक पंजाब सरकार ने नगर निगम द्वारा प्रस्तावित 14 बस मार्गों को अस्वीकार कर दिया है। वहीं अब नए सिरे से सिटी बस सेवा को शुरू करने का काम पंजाब परिवहन विभाग देखगा। पहले ये काम नगर निगम की ओर से देखा जा रहा था।

निगम के अधिकारियों के मुताबिक इस नगर निगम की ओर से प्रस्तावित रूटों व प्रोजेक्टों को इस लिए रद किया गया है। क्योंकि इस पर आने वाली लागत बेहद ज्यादा थी। इस सेवा को शुरू करने के लिए 20 करोड़ रुपये से अधिक की लागत आनी है। इसके लिए सरकार की ओर से भी सहायता मांगी गई थी, लेकिन सरकार ने सहायता देने से इन्कार कर दिया है। ध्यान रहे कि मोहाली निगम ने मोहाली और आसपास के गांवों में ट्रांसपोर्ट सेवा में बढ़ोतरी के लिए चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) के साथ गठजोड़ करने का भी प्रस्ताव रखा था, जो कि पहले से ही लटका हुआ है। मोहाली में सिटी बस सेवा के लिए 14 मार्गों को मंजूरी दी गई थी। 17 सितंबर, 2018 को निगम की हाउस की बैठक में चर्चा के लिए प्रस्ताव आया था, जिसका सभी पार्षदों ने स्वागत किया था और अंत में इसे मंजूरी दी गई थी।

बैठक के दौरान मेयर कुलवंत सिंह ने घोषणा की थी कि निगम 200 बसों की खरीद के लिए तैयार है। इनमें से 50 बसों को जल्द से जल्द खरीदा जाएगा, लेकिन कुछ तकनीकी कारणों से स्थानीय निकाय विभाग ने प्रस्ताव को खारिज कर दिया। फिर पंजाब परिवहन विभाग को परियोजना सौंपने के बाद, परिवहन विभाग ने प्रस्तावित बस मार्गों को एमसी हाउस की मंजूरी के लिए भेजा था। तब पार्षदों ने उसे अस्वीकार कर दिया गया था।

सरकार से की जाएगी बातचीत

एमसी के आयुक्त भूपिंदर पाल सिंह ने कहा इस योजना को फिर से शुरू किया जाएगा। इस योजना पर नगर निगम ही काम करे, इसे लेकर सरकार से बातचीत की जाएगी। सिटी बस सेवा योजना की सफलता के लिए विस्तृत योजना बनाई गई है। हालांकि सरकार के निर्णय के अनुसार, परियोजना परिवहन विभाग को सौंप दी गई है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!