जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : प्रधानमंत्री रोजगार योजना के नाम पर नकली एजेंट ने एक स्टूडेंट से 28 हजार रुपये की ठगी कर ली। पहले आरोपित ने कॉल करके अपनी बातों में फंसाया फिर भरोसा जितने के लिए भारत सरकार के नाम पर 24,500 रुपये की नौकरी का अप्वाइंटमेंट लेटर भी भेजा। इसके बाद अलग-अलग चार्ज के नाम पर कॉलर ने चंडीगढ़ के स्टूडेंट से तीन बार में 28 हजार रुपये का चूना लगा दिया। अब कॉलर का नंबर बंद आ रहा है और पीड़ित स्टूडेंट थाने का चक्कर काट रहा है।

पीड़ित कासल निवासी 12वीं का स्टूडेंट नेकचंद ने बताया कि उसे एक फरवरी को 7290946437 नंबर से एक कॉल आई। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत आपकी नौकरी लग गई है। पहले अपनी बात में पूरी तरह फंसाने के दो दिन बाद उन्होंने भारत सरकार के नाम एक 24,500 रुपये सैलरी का अप्वाइंटमेंट लेटर भी उसके पते पर भेज दिया। नौकरी मिलने में अलग-अलग चार्ज का हवाला देकर आरोपित ने नेकचंद से तीन बार में 28 हजार रुपये अपने अकाउंट में ट्रासफर करवा लिया। पीड़ित ने 16, 19 और 28 फरवरी को पैसा ट्रासफर किया था जिसके बाद आरोपित ने नेकचंद से बोला कि आप तैयारी कर ले, आपको 15 दिनों में दिल्ली बुला लिया जाएगा लेकिन, 20 दिन तक कोई कॉ नही आने के बाद नेकचंद ने उस नंबर पर कॉल किया। उधर से बार-बार ट्राई करने के बाद नंबर बंद आ रहा था। इसके बाद पीड़ित ने एसएसपी को लिखित तौर पर शिकायत दी। उसके साथ पैसे ट्रासफर की रसीद, मोबाइल नंबर, फर्जी अप्वाइंटमेंट लेटर भी अटैच किया हैं।

शिकायत के बाद पुलिस बोली, जाच कर रहे

पीड़ित स्टूडेंट नेकचंद परिवार के साथ कासल रहता है। उसके पिता सब्जी की दुकान लगाते है। कॉलर ने कहा था कि अभी आपको ट्रेनिंग दी जाएगी और 12वीं पास होते ही पक्का कर दिया जाएगा। पीड़ित ने बताया कि एसएसपी ऑफिस से उसकी शिकायत जाच के लिए संबंधित आईटी पार्क थाने में ट्रासफर की गई। लेकिन, वहा पुलिसकर्मी बार-बार चक्कर कटवा रहे है और केस के बारे में पूछने पर बोलते है कि जाच जारी, अभी देख रहे है।

By Jagran