चंडीगढ़, जेएनएन। चंडीगढ़ के अधिकतम तापमान में लगातार वृद्धि हो रही है, जिससे ठंड का प्रभाव काफी कम हो गया है। हालांकि सुबह शाम कोहरा छाने से प्रदूषण का स्तर भी काफी बढ़ गया है। रविवार को वाहनों की आवाजाही छुट्टी की वजह से काफी कम रहती है। बावजूद इसके एयर क्वालिटी इंडेक्स 150 प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया जो काफी ज्यादा माना जाता है।

इससे पहले एक्यूआइ 100 के आसपास ही रहता था, लेकिन अब इसमें काफी वृद्धि हो गई है जो अच्छे संकेत नहीं हैं। पहले वाहनों से निकलने वाला धुआं और टायरों से उड़ने वाले मिट्टी को प्रदूषण का मुख्य कारण माना जाता था लेकिन रविवार को 20 फीसद ही वाहन सड़कों पर रहते हैं, जिससे प्रदूषण का स्तर काफी कम होना चाहिए, लेकिन इसमें इजाफा हो रहा है।

विशेषज्ञ मान रहे हैं कि सुबह-शाम जो कोहरा छाने लगा है उससे हवा में नमी बढ़ जाती है जिससे प्रदूषण के कारण हवा में ठहर रहे हैं और हवा प्रदूषित हो रही हैl फिर चंडीगढ़ ही नहीं आसपास के शहरों में भी हवा काफी खराब हो गई है साथ लगते पंचकूला शहर में एक्यूआइ 188 प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया, जो वह ज्यादा होता है। इसके अभी और बढ़ने की संभावना बताई जा रही है। अगर यह 200 के पार पहुंच जाता है, तो इसे बहुत खराब माना जाता है।

यही हाल ट्राईसिटी के तीसरे शहर मोहाली का भी है l यहां भी एक्यूआइ डेढ़ सौ के पार है l हरियाणा के शहरों की बात करें तो अंबाला का एक्यूआइ 166, करनाल का 205, कुरुक्षेत्र का 232 दर्ज किया गया l वहीं पंजाब के शहरों में फतेहगढ़ साहिब का सबसे अधिक 188 उसके बाद अमृतसर का 116, लुधियाना का 114 और जालंधर का 116 एक्यूआइ दर्ज किया गया l

दिल्ली एनसीआर में हालत इससे भी खराब

देश की राजधानी दिल्ली अभी भी सबसे प्रदूषित शहरों की लिस्ट में शुमार है रविवार को नई दिल्ली का एक्यूआइ 359 दर्ज किया गया है। यही हाल एनसीआर के शहरों का भी है। गाजियाबाद का एक्यूआइ 426 दर्ज किया गया है। नोएडा का 408, फरीदाबाद का 375 और गुरु ग्राम का 290 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गयाl

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021