जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 27 नवंबर से 4 दिसंबर तक नॉमिनेशन भरा जाएगा। हालांकि कांग्रेस, भाजपा और आम आदमी पार्टी जैसे प्रमुख दलों ने अपने उम्मीदवार ही घोषित नहीं किए हैं, लेकिन दावेदारों ने तो चुनाव के लिए प्रचार भी शुरू कर दिया गया है। चंडीगढ़ आम आदमी पार्टी की ओर से उम्मीदवारों के नाम फाइनल कर लिए गए हैं। पार्टी उम्मीदवारों की घोषणा करने से घबरा रही है। क्योंकि पार्टी नेताओं को आभास है कि उम्मीदवार घोषणा के साथ ही बवाल होना शुरू हो जाएगा। 

आप में संयोजक प्रेम गर्ग, पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन और सह प्रभारी प्रदीप छाबड़ा में अपने समर्थकों को टिकट दिलवाने की होड़ लगी हुई है। ऐसा करके वह पार्टी में अपना दबदबा बढ़ाना चाहते हैं। उम्मीदवार तय करने से पहले पार्टी से टिकट के संभावित दावेदारों ने अलग-अलग वार्ड में चुनावी कार्यालय खोलने की होड़ लगी हुई है। आप संयोजक प्रेम गर्ग का कहना है कि जल्द ही उम्मीदवारों की सूची घोषित कर दी जाएगी। पार्टी महासचिव जगदीप महाजन इस समय नाराज हैं क्योंकि पार्टी ने सेक्ट-31,32 और 33 सीट पर उनकी पत्नी को उम्मीदवार नहीं बनाया जा रहा है। इसलिए अब उनकी पत्नी अकाली दल में शामिल हो गई हैं। इसी तरह से आप के सीनियर नेता योगेश्वर सोनी नाराज होकर पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सोनी ने पार्टी में नए आए नेताओं को तवज्जो देने पर मोर्चा खोला हुआ है।

वहीं, कांग्रेस पार्टी में भी बवाल मचा हुआ है। यहां पर दावेदारों ने खुद ही उम्मीदवार बनने से पहले वार्ड में प्रचार शुरू कर दिया है। जिन्हें पार्टी के नेता भी नहीं रोक पा रहे हैं। कांग्रेस में इस समय एक दर्जन से ज्यादा दावेदार ऐसे हैं। जन्नत जहां उल हक, हरप्रीत कौर बबला, गुरबख्श रावत, सोनिया, रविंदर कौर गुजराल ने प्रचार शुरू कर दिया है। उक्त दावेदार तो लोगों के बीच पहुंचकर वोट मांग रहे हैं। जबकि भाजपा में ऐसा कोई दावेदार नहीं है जिन्होंने प्रचार शुरू किया हो। इस समय सिर्फ एक मात्र अकाली दल ऐसा है जिसने अपने 15 उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं।

Edited By: Ankesh Thakur