चंडीगढ़ [राजेश ढल्ल]। नगर निगम की वित्त एवं अनुबंध कमेटी के सदस्यों का चुनाव सर्वसम्मति से हो गया है। पांच सदस्यों के लिए पांच ही उम्मीदवारों ने नामांकन भरा है। भाजपा की ओर से दिलीप शर्मा विनोद अग्रवाल चंद्र वती शुक्ला राजेश गुप्ता ने नॉमिनेशन भरा है। जबकि कांग्रेस की ओर से रविंदर कौर गुजराल ने नॉमिनेशन भरा है। भाजपा की ओर से जो चार उम्मीदवार तय किए गए हैं, उनमें मेयर राजबाला मलिक की चली है। मेयर राजबाला मलिक ने इन चार उम्मीदवारों का नाम तय करते हुए सांसद किरण खेर की राय ली है। 21 जनवरी को वित्त अनुबंध कमेटी का चुनाव होना था लेकिन पांच सदस्यों के लिए पांच ही नाम आने से इनका चुनाव सर समिति से हो चुका है।

इन फैसलों में कमेटी निभाती है अहम किरदार

यह नगर निगम की सबसे अहम कमेटी है जिसमें वित्तीय और नीतिगत फैसले लिए जाते हैं अकाली दल के पार्षद हरदीप सिंह को भी इस कमेटी का सदस्य बनने के लिए दावेदार माना जा रहा है। जबकि जैन गुट पूर्व मेयर देवेश मोदगिल को सदस्य बनाने के लिए उम्मीदवार बनाने की मांग कर रहा है।

 

इस वजह से भाजपा ने कांग्रेस के लिए छोड़ी एक सीट

साल 2017 में वित्त एवं अनुबंध कमेटी का चुनाव हुआ था। उस समय भाजपा ने कांग्रेस के लिए एक भी सीट नहीं छोड़ी थी जिसका खामियाजा भाजपा को झेलना पड़ा। गुटबाजी और क्रॉस वोटिग के कारण उस समय अनुबंध कमेटी चुनाव की उम्मीदवार हीरा नेगी हार गई थी और कांग्रेस के उम्मीदवार देवेंद्र सिंह बबला चुनाव जीत गए जबकि उस समय कांग्रेस के चार ही पार्षद थे। उसके बाद से भाजपा ने सबक लेते हुए खुद ही कांग्रेस के लिए एक सीट छोड़नी शुरू कर दी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!