चंडीगढ़, जेएनएन। चंडीगढ़ बिजली कर्मचारियों की मीटिंग इलेक्ट्रिकल स्टोर सेक्टर 25 में हुई। बैठक में कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ गवर्नमेंट एंड एमसी इंप्लाइज एंड वर्कर्स यूटी चंडीगढ़ के आह्वान पर 10 फरवरी को हो रही यूटी इंप्लाइज की हड़ताल में शामिल होने का फैसला किया।

इलेक्ट्रिकल वर्कमैन यूनियन के प्रधान किशोरी लाल और चेयरमैन वरिंदर बिष्ट ने कहा कि इलेक्ट्रिकल सर्किल के अंतर्गत काम कर रहे आउट सोर्सिंग वर्करों की सैलरी अभी तक नहीं मिली, सैलरी रिलीज करने के एवज मे पैसे मांगे जा रहे हैं। ठेकेदार उनका पीएफ भी जमा नहीं करवा रहा। उन्होंने मांग की कि ठेकेदारों के खिलाफ पुलिस  कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि 10 फरवरी की हड़ताल में बिजली कर्मी भी शामिल होंगे।

कोऑर्डिनेशन कमेटी के जनरल सेक्रेटरी राकेश कुमार और प्रधान सतिंदर सिंह ने कहा कि जेम पोर्टल के ठेकेदार आउट सोर्सिंग वर्करों का लगातार आर्थिक शोषण कर रहे हैं। कोई लेबर कानून लागू नहीं किया जा रहा। वेतन से गैर कानूनी कटौती की जा रही है। उस पर डीसी रेट भी नहीं बढ़ाए जा रहे। प्रशासन फिर भी आंखे बंद कर के बैठा है।

उन्होंने प्रशासन को चेतावनी दी है कि यदि मुलाजिमों की मांगों पर गंभीरता नहीं दिखाई तो कोऑर्डिनेशन कमेटी  10 फरवरी को संपूर्ण हड़ताल करने को मजबूर होगी। जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। मीटिंग को राजिंदर कुमार जनरल सेक्रेटरी और एडवाइजर हरप्रीत सिंह पैक इंप्लॉइज यूनियन, अवतार सिंह, लखबीर सिंह और ताज्वर सिंह ने भी संबोधित किया।

डीसी रेट तुरंत किया जाए रिवाइज

राकेश कुमार ने बताया कि प्रशासन ने इंप्लाइज के डीसी रेट को अप्रैल 2020 से फ्रीज कर रखा है, जिससे आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है। इन कर्मचारियों को पहले से ही वेतन बहुत कम मिलता है। इन कर्मचारियों के साथ ऐसा करना ठीक नहीं है प्रशासन के अधिकारी कई बार इसे जारी करने के आश्वासन दे चुके हैं लेकिन लगभग एक साल पूरा होने को है कर्मचारियों का डीसी रेट रिवाइज नहीं किया गया है अगला वित्त वर्ष शुरू होने से पहले अभी तक का डीसी रेट के तहत बनने वाला एरिया कर्मचारियों को दिया जाना चाहिए राकेश कुमार ने कहा कि इसके लिए वह हड़ताल में कड़ा रुख अपनाने के लिए फैसला लेंगे l

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021