जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व चंडीगढ़ क्लब के पूर्व अध्यक्ष मुकेश बस्सी का सोमवार को निधन हो गया। उनका देहांत दिल का दौरा पड़ने से हुआ है। मुकेश बस्सी शहर के नामचीन लोगों में से थे। वह नगर निगम के पूर्व पार्षद भी रह चुके हैं। 

कांग्रेस नेताओं के अनुसार मुकेश बस्सी सुबह 5.30 बजे सेक्टर-28 में अपने घर के पास ही पार्क में सैर कर रहे थे अचानक दिल का दौरा पड़ने से वह जमीन पर गिर गए। यहां पर आधा घंटे तक वह जमीन पर पड़े रहे। राहगीर ने इसकी जानकारी उनके परिवार वालों को दी, जिसके बाद उन्हें मोहाली के मैक्स अस्पताल में भरती करवाया गया।

जानकारों के अनुसार उन्हें इससे पहले भी तीन बार हार्ट अटैक आ चुका था। अस्पताल में उन्हें स्टंट भी डाला गया। शाम करीब पांच बजे उन्हें डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है। मालूम हो कि मुकेश बस्सी शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी भी थे। जिनकी ट्रैक्टर के पार्टस बनाने की फैक्ट्री है। मुकेश बस्सी कांग्रेस के कई सीनियर पदों पर रह चुके हैं। वह पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल के अलावा मनीष तिवारी के भी करीबी थे। मुकेश बस्सी भाजपा में भी रह चुके हैं। उनके निधन से राजनीतिक दलों के नेताओं में शोक की लहर है। साल 2016 में वह उन्होंने मेयर का चुनाव भी लड़ा था।

मुकेश बस्सी के निधन पर पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल, कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चावला, कांग्रेस पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला, पूर्व मेयर रविंदर सिंह पाली, डीडी जिंदल, आम आदमी पार्टी के सह प्रभारी प्रदीप छाबड़ा और भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने शोक व्यक्त किया है। मुकेश बस्सी भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद के भी दोस्त थे। बस्सी सेक्टर-18,19 और 21 से पिछले कार्यकाल में पार्षद रह चुके हैं। वह मौलीजागरां से भी कांग्रेस टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। 

इस साल जब सुभाष चावला को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया तब मुकेश बस्सी का नाम भी अध्यक्ष पद के दावेदारों में शामिल था। तीन साल पहले ही उनके पिता का भी देहांत हुआ है। कांग्रेस पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला का कहना है कि संस्कार मंगलवार को सेक्टर-25 में होगा।

Edited By: Ankesh Thakur