चंडीगढ़, जेएनएन। अयोध्‍या में श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भूमि पूजन करने से पंजाब में खुशी की लहर है।  राज्‍य में लोगों ने जगह-जगह जश्‍न मनाया। इस अवसर पर मंदिरों और धार्मिक स्‍थलों पर विशेष आयोजन किए गए। मंदिरों में श्रद्धालुओं एवं संतों ने भगवान श्री राम और माता सीता की पूजा-अर्चना की गई। भगवान लक्ष्‍मण, श्री हनुमान की भी विशेष पूजा की गई। रात में मंदिरों व धार्मिक स्‍थलों को सुंदर तरीके से रोशन किया गया। पूरा माहौल दीपावली जैसा था।

विश्व को सही दिशा दिखाता है भगवान राम का धर्म संदेश: कैप्टन

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अयोध्या में भव्य श्री राम मंदिर के शिलान्यास का स्वागत किया है। उन्होंने देश के लोगों को लंबे समय बाद पूरी हुई इच्छा पर बधाई दी। कैप्टन ने ट्वीट कर कहा कि भगवान राम का धर्म संदेश न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व को सही दिशा दिखाता है।

इसके अलावा पंजाब केे खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशू ने भी अपनी फेसबुक पेज पर हैशटेग राम मंदिर और हैशटेग जय श्रीराम लगाते हुए कहा है कि राम मंदिर का शिलान्यास सालों से हमारे भाई बहनों के अंतहीन और अथक प्रयासों का परिणाम है। यह भारत की जीत है और इस पल को इतिहास के सुनहरी अक्षरों में लिखा जाएगा। हम सौभाग्यशाली हैं कि हम इस पल का देख पाए हैं।

उन्होंने भारत वासियों की एकता, उन्नति और प्रगति की कामना भी की। अपने फेसबुक पेज पर उन्होंने अयोध्या में बनने वाले मंदिर की तस्वीर पोस्ट करते हुए हुए लिखा कि मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु राम के मंदिर के निर्माण और शिलान्यास में योगदान देने के लिए संपूर्ण राष्ट्र का धन्यवाद।

प्रदेश भर में राम भक्‍तोंं में उत्‍साह चरम पर नजर आया। पंजाब में विभिन्‍न स्‍थानों पर रामचरित मानस का पाठ किया गया। मंदिरों, आश्रमों और धार्मिक डेरों में श्री सुंदरकांड के पाठ के आयोजन किए गए। अमृतसर, जालंधर, लुधियाना, पटियाला और बठिंडा सहित पूरे राज्‍यभर में प्रसन्‍नता और भक्ति का वातावरण दिखा।

मंदिरों और धार्मिक स्‍थलों को बेहद सुंदर तरीके से सजाया गया। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्‍या में श्री राम मंदिर का शिलान्‍यास किया तो राज्‍य में लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। लाेगों ने जय श्री राम और जय श्री सीताराम का घोष किया।

इस अवसर पर सुबह से ही मंदिरों व धार्मिक स्‍थलों पर श्रद्धालु पूजा-अर्चना करने आ रहे हैं। लोगों ने भगवान राम, माता सीता, लक्ष्मण और श्री हनुमान जी की पूजा-अर्चना की। नाभा के दतिया डेरा में श्री रामचरितमाना का पाठ किया गया।

लोगाें ने अयोध्‍या में श्री राम मंदिर के शिलान्‍यास समारोह का सीधा प्रसारण टेलीविजन पर देखा। कई जगह लोगों को सीधा प्रसारण देखने के लिए विशाल एलईडी स्‍क्रीन लगाए गए थे। हैबोवाल में एलईडी स्क्रीन लगाकर अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन का लाइव टेलीकास्ट लोगों ने देखा ! इस दौरान मिठाई बांटकर श्री राम के जयकारे लगाए गए। नाभा के तपाया मंदिर के प्रमुख महंत अवध बिहारी दास जी ने श्रद्धालुओं ने श्री रामचरितमानस का पाठ किया।

अमृतसर के श्री दुर्ग्‍याणा तीर्थ सहित अन्‍य धार्मिक स्‍थलों पर विशेष पूजा-अर्चना की गई। पूजा-अर्चना केे लिए काफी संख्‍या में श्रद्धालु उमड़े। लोगों का कहना है कि श्री राम मंदिर के शिलान्‍यास से चिर प्रतिक्षित उम्‍मीद पूरी हुई है। अब अयोध्‍या में भव्‍य श्री राम मंदिर का निर्माण पूरा होने का सपना जल्‍द साकार होगा।

ढोल की थाप पर उड़ा गुलाल, जय श्रीराम के जयघोष के साथ बंटे लड्डू

टीवी पर भूमि पूजन के दृश्य देखकर लोग भाव-विभोर हो गए। मंदिर निर्माण आंदोलन में शामिल रहे लोगों के लिए यह पल अविस्मरणीय था। लिहाजा इसका जश्न भी पूरे उल्लास के साथ मनाया गया। ढोल की थाप पर लोगों ने गुलाल उड़ा कर जय श्रीराम का जयघोष किया और लड्डू बांटे। मंदिर दिनभर श्रीरामचरित मानस और हनुमान चालीसा के पाठ गूंजते रहे। यज्ञ के दौरान वेद मंत्रों के उच्चारण से पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया। कई शहरों में झंडा मार्च भी निकाले गए। रामकथा में प्रभु श्रीराम महिमा का वर्णन किया गया। 

शाम होते-होते पंजाब के महानगरों जालंधर, लुधियाना, अमृतसर, बठिंडा व पटियाला सहित अन्य कस्बों-गांवों में मंदिर, बाजार और विभिन्न संस्थान रोशनी से जगमगा उठे। लोगों ने घी के दिए जलाए। श्री की आरती से माहौल में पवित्रता घुल गई। ज्यादातर जिलों में भाजपा, विश्व ङ्क्षहदू परिषद व अन्य ङ्क्षहदू संगठनों ने लड्डूओं का प्रसाद बांटा। ब्राह्मणों को भोजन करवाया गया। बाजार में आम दिनों के मुकाबले ज्यादा रौनक रही।

गुरुद्वारा सिंह सभा ने बांटा प्रसाद

होशियारपुर के हाजीपुर में गुरुद्वारा सिंह सभा ने लड्डुओं का प्रसाद बांटा। यहां भी लोगों ने ढोल बजाकर मंदिर के भूमिपूजन पर उत्सव मनाया। लुधियाना के श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर राम दरबार 1100 दीपक जलाकर दीपमाला की गई। जालंधर के छोटी अयोध्या मंदिर, अमृतसर के श्री दुग्र्याणा तीर्थ, पटियाला के काली माता मंदिर में भी दीये जलाए गए।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!