जेएनएन, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विपक्ष के नेता सुखपाल खैहरा को सलाह दी है कि वह किसानों की स्थिति पर सियासी रोटियां न सेंकें। कैप्टन ने खैहरा के उस बयान की निंदा की है जिसमें उन्होंने कहा था कि किसानों को नरमे के नकली बीज और कीटनाशक मुहैया करवाने में मुख्यमंत्री कार्यालय और कैबिनेट मंत्री की साझेदारी है।

एक प्रेस बयान में कैप्टन ने कहा कि खैहरा अरविंद केजरीवाल की कार्बन कॉपी बनने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि उनके बयान से स्पष्ट होता है कि वह जमीनी स्थिति से नहीं जुड़े हैं। खैहरा को पंजाब कृषि विश्वविद्यालय जाकर इस विषय पर जानकारी लेनी चाहिए और यूनिवर्सिटी के उपकुलपति व अध्यापकों से सूबे में सफेद मक्खी के प्रभाव संबंधी स्थिति को समझने की कोशिश करनी चाहिए।

जिम्मेदार विरोधी पक्ष की जरूरत

कैप्टन ने कहा कि विरोधी पक्ष के नेता के तौर पर खैहरा को जिम्मेदारी के साथ काम करने और घटिया राजनीति करने की बजाय रचनात्मक विरोध करने का फर्ज अदा करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि खैहरा का पद शिष्टाचार की मांग करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि खैहरा अब अरविंद की नकल कर रहे हैं। पंजाब को दोबारा तरक्की व विकास के  रास्ते पर लाने के लिए जिम्मेदार विरोधी पक्ष की जरूरत है।

यह भी पढ़ेंः कंपाउंडर की बहन को हवस का शिकार बनाता रहा डॉक्टर, गर्भवती हुई तो हुआ खुलासा

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!