मोहाली : थाना नयागाव में तैनात एसएचओ भगवंत सिंह व उनकी टीम पर नाजायज कब्जा करने आए लोगों की मदद करने व हाईकोर्ट के तीन वकीलों को गलत तरीके से हवालात में बंद करने के आरोप लगे हैं। ताहिर हुसैन ने बताया कि वह हाईकोर्ट में प्रेक्टिस करते हैं। उनके दो अन्य वकील साथियों ने बताया कि नयागाव स्थित प्लॉट पर कब्जे की नीयत से कुछ अज्ञात व्यक्ति आए जिन्होंने हथियारों के बल पर उन्हें धमकाया। इस मामले की सूचना पुलिस को भी दी गई और पुलिस मौके पर पहुंची भी, लेकिन कब्जा करने आए व्यक्तियों व पुलिस की मिलीभगत के चलते उन्हें ही गलत ठहराते हुए हवालात में बंद कर दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि कब्जा करने आए किसी भी व्यक्ति को पुलिस ने कस्टडी में लेना मुनासिब नहीं समझा। दूसरी तरफ हवालात में ताहिर हुसैन के साथ बंद एक अन्य वकील ने पुलिस पर पिस्टल रखकर दबाव बनाने के आरोप भी लगाए। उनका आरोप है कि पुलिस ने मौके पर पहुंच उन्हें ही टारगेट बनाय और कब्जाधारियों को मौके से भगा दिया। एसएचओ भगवंत सिंह रियाडा से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने वकील संबंधी बात सुनते ही फोन काट दिया। दूसरी बार उनका पक्ष जानने के लिए दोबारा उन्हें फोन किया गया तो उन्होंने फोन ही काट दिया। इस संबंधी जब हाईकोर्ट के प्रधान अशोक चौहान से बात की गई तो उन्होंने फोन उठाकर पूरी बात सुनी और बात सुनने उपरात कहा कि मुझे किसी भी अपने वकील का थाने से फोन नहीं आया। देर रात दोनों को लॉकअप से छोड़ दिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!