जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ :

ट्राईसिटी में कोरोना को लेकर लोगों की लापरवाही का मामला लगातार सामने आ रहा है। बाजारों में ग्राहकों के साथ-साथ दुकानदार भी कोरोना से बचने के लिए सावधानी नहीं बरत रहे हैं। कोरोना का खौफनाक प्रकोप के बीच लोग बेखौफ नजर आ रहे हैं। आवश्यक सामान की बाजारों में खुली दुकानों पर भी गिनती के लोगों को छोड़कर ज्यादातर लोग बिना शारीरिक दूरी और गलत ढंग से मास्क पहने नजर आ रहे हैं। इसके बीच शहर की सबसे बड़ी सब्जी मंडी सेक्टर-26, अपनी मंडी सेक्टर-52 सहित अन्य अपनी मंडियों के साथ भीड़भाड़ वाले रिहायशी एरिया जैसे शास्त्री नगर, मनीमाजरा, कालोनी एरिया में कोरोना ब्लास्ट का खतरा मंडरा रहा है। लोग कोविड-19 गाइडलाइन का उल्लंघन करने के साथ नियमों की धज्जियां भी उड़ा रहे हैं। आवश्यक वस्तुओं की दुकान पर भी भीड़

प्रशासन ने सख्त नियमों के बीच आवश्यक सामान वाले दुकान को खोलने की अनुमति दी है। इसमें ग्राहक को दो गज की दूरी रखने, मास्क पहनने और सेनिटाइजर का इस्तेमाल करने की अनिवार्यता है। इन नियमों का पालन करवाने की जिम्मेदारी दुकान मालिक की तय की गई है। दो-दो गज की दूरी पर निशान बनाने, ग्राहकों के मास्क और हैंड सेनिटाइज पर दुकानदार भी ध्यान नही दे रहे है। मेडकिल स्टोर, होटल्स, फूड इटिग प्वाइंट्स को होम डिलीवरी या पैकिग की इजाजत है। इसके बावजूद पैकिग के नाम पर लोगों की भीड़ लगी होती है। निजी संस्थान नहीं मान रहे प्रशासन के आदेश, पुलिस लाचार

प्रशासन ने सभी निजी संस्थानों को वर्क फ्रॉम होम की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिया है। इसके बावजूद ज्यादातर निजी संस्थानों में कर्मचारी रूटीन में काम कर रहे है। इसी वजह से सड़क और ऑफिस में भी भीड़ नजर आ रही है। जो कोरोना संक्रमण को बढ़ाने की वजह साबित हो सकती है। नियमों की पालना करवाने की जिम्मेदारी रखने वाली पुलिस भी लापरवाही लोगों के सामने लाचार नजर आ रही है।