संवाद सहयोगी, जीरकपुर (मोहाली) : उत्तर भारत के प्रसिद्ध छतबीड़ चिड़ियाघर को पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाने के लिए पंजाब सरकार की ओर से विशेष प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। शुक्रवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव वन सोहन सुनकरिया ने झंडी दिखा बब्बर शेर गगन और सावन को छतबीड़ चिड़ियाघर में पर्यटकों के लिए लायन सफारी में छोड़ा। सफारी में इससे पहले पांच शेर जिनमें 4 शेरनिया और एक शेर था। अब गगन और सावन के इन्दौर चिड़ियाघर से छतबीड़ चिड़ियाघर पहुंचने के बाद संख्या सात हो गई है जिनमें तीन शेर और चार शेरनियां हो गई हैं। गगन और सावन को बीते दिनों एनिमल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत इन्दौर चिड़ियाघर से लाया गया है। इस दौरान दोनों शेर चिड़ियाघर में रखे अन्य शेरों के बाड़े के नजदीक उनकी गंध की पहचान करते दिखे। दोनों शेर पूरी तरह स्वस्थ हैं। चार साल की उम्र है दोनों शेरों की

इसके बाद अतिरिक्त मुख्य सचिव वन सोहन सुनकरिया ने एक हवन के बाद छतबीड़ चिड़ियाघर में बच्चों के मनोरंजन के लिए बनाए जाने वाले डायनासोर पार्क के निर्माण कार्य का रिबन काट उद्घाटन किया। पत्रकारों को जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि निर्माण में चार करोड़ की लागत आएगी जो चार महीने में बनकर तैयार हो जाएगा। चिड़ियाघर के डायरेक्टर एम सुधागर ने बताया कि इन दोनों बब्बर शेरों की चार साल के करीब उम्र है। अभी दूसरे शेरों से अलग रखा गया है

खाने में हफ्ते में 2 दिन मीट, दो दिन चिकन, दो दिन सूप और सप्लीमेंट दिया जाता है। अभी इन शेरों को बाकी शेर से अलग रखा जा रहा है। जल्द ही इंदौर से वन्य प्राणी आदान प्रदान के तहत लाए गए टाइगर नव, भेड़िए, लोमड़ी व स्लॉथ बियर को भी पर्यटकों के लिए सार्वजनिक किया जाएगा। मौके पर कुलदीप कुमार पीसीसीएफ वन प्राणी और वसंता राज कुमार मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!