चंडीगढ़ [राजेश ढल्ल]। हरियाणा विधानसभा चुनाव घोषित होते ही चंडीगढ़ के नेताओं ने भी कमर कस ली है। चंडीगढ़ भाजपा, कांग्रेस और आप के नेता और कार्यकर्ता हरियाणा में अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के प्रचार के लिए डेरा डालेंगे। जबकि पंचकूला, कालका और अंबाला की विधानसभा सीटों पर प्रचार के लिए ऐसे कार्यकर्ताओं और नेताओं की जिम्मेदारी लगाई जाएगी जोकि हर रोज सुबह जाकर देर शाम चंडीगढ़ वापस लौट आएंगे। इन सीटों पर चंडीगढ़ की स्थानीय यूनिट को विशेष फोकस देने के लिए कहा गया है। शहर में हरियाणा से संबंध रखने वाले हजारों परिवार रहते हैं जोकि चुनाव प्रचार में हरियाणा जाएंगे। कई शहरवासी ऐसे भी हैं जिनके वोट हरियाणा में ही हैं।

हरियाणा के सीएम के यहां के नेताओं से अच्छे संबंध

हरियाणा के इस समय कई नेता, विधायक और मंत्री ऐसे हैं जिनके चंडीगढ़ के नेताओं से काफी अच्छे संबंध हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खुद भी चंडीगढ़ भाजपा के संगठन मंत्री रह चुके हैं। इस समय भी मनोहर के चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन के अलावा स्थानीय नेताओं के साथ अच्छे संबंध हैं। ऐसे में चंडीगढ़ भाजपा के कार्यकर्ताओं की एक टीम करनाल में उनके लिए प्रचार करने जाएगी।

बंसल भी उतरेंगे मैदान में

कांग्रेस की ओर से पूर्व रेल मंत्री पवन बंसल भी हरियाणा की अलग-अलग सीटों पर प्रचार करने के लिए जाएंगे। इसके अलावा जिला कांग्रेस अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह गाबी के अलावा सीनियर नेता एचएस लक्की कांग्रेस विधायक सुरजेवाला के लिए प्रचार करने के लिए जाएंगे। लक्की का कहना है कि वे कई दिन कैथल में ही रहेंगे। यहां के पंजाब विश्वविद्यालय में जो अलग-अलग छात्र संगठन हैं, उन्होंने भी अपने अपनी पंसदीदा उम्मीदवार के लिए प्रचार करने के लिए तैयारी कर ली है। पंचकूला से वर्तमान विधायक ज्ञानचंद गुप्ता चंडीगढ़ नगर निगम के पूर्व मेयर रह चुके हैं। ऐसे में चंडीगढ़ के कई व्यापारी नेता उनका लिए प्रचार करने के लिए पंचकूला जाएंगे। ज्ञानचंद गुप्ता के साथ सेक्टर-26 ग्रेन मार्केट के व्यापारियों के अच्छे संबंध हैं।

टंडन को मिल चुकी है करनाल, अंबाला और पानीपत जिले की जिम्मेदारी

हरियाणा चुनाव के लिए चंडीगढ़ भाजपा को जिम्मेदारियां मिलनी शुरू हो गई हैं। प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन को करनाल, अम्बाला और पानीपत जिले का पर्यवेक्षक बना दिया गया है। प्रदेश उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी को मुलाना विधानसभा का पर्यवेक्षक लगाया गया है जबकि पार्षद जगतार सिंह जग्गा को अंबाला शहर, विनोद अग्रवाल को अंबाला छावनी तथा पप्पू शुक्ला उर्फ गोपाल शुक्ला को इंद्री हलके का पर्यवेक्षक बनाया गया है।

सभी दलों की अपनी-अपनी रणनीति

भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन का कहना है कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में चंडीगढ़ भाजपा के नेता और कार्यकर्ता बड़ी संख्या में जाएंगे। इसके तहत कई नेताओं को सीटों पर पर्यवेक्षक भी लगा दिया गया है। पंचकूला, कालका और अंबाला चंडीगढ़ के पास हैं जहां पर कार्यकर्ता ज्यादा जोर लगाएंगे। -कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा का कहना है कि जहां-जहां पार्टी हाईकमान चंडीगढ़ के नेताओं की जिम्मेदारी लगाएगा, वहां पर नेता जाएंगे। वे खुद भी हरियाणा की सीटों पर प्रचार के लिए जाएंगे। नेताओं को जल्द ही जिम्मेदारियां दी जाएंगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!