मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

चंडीगढ़, [डॉ सुमित सिंह श्योराण]। सेक्टर-11 स्थित पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज फॉर गर्ल्स (जीसीजी-11) में वीरवार को 62 वां सालाना कन्वोकेशन आयोजित किया गया। इस मौके पर पंजाब यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. राजकुमार मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे। अपने संबोधन में प्रो. राजकुमार ने कहा कि स्टूडेंट्स को हर क्षेत्र में इतनी मेहनत करनी चाहिए, कि उनके इंस्टीट्यूट का नाम देश विदेश में रोशन हो। उन्होंने कहा कि बदलते दौर में सिर्फ डिग्री लेना ही काफी नहीं है, अब युवाओं को नौकरी लेने के लिए नहीं बल्कि दूसरों को नौकरी देने के काबिल बनना होगा। प्रो. राजकुमार ने कहा कि जीसीजी जैसे कॉलेज से पढ़ाई करना किसी भी छात्रा के लिए सम्मान की बात है। कॉलेज से पढ़ी छात्राओं ने देश-विदेश में शहर का नाम रोशन किया है। कार्यक्रम की शुरुआत कॉलेज प्रिंसिपल प्रोफेसर डॉ.अनीता कौशल ने बताया कि इस साल कॉलेज की 900 छात्राओं को ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री दी जा रही है।

70 छात्राओं को टॉप करने पर मिला सम्मान 

 जीसीजी कन्वोकेशन में डिग्री हासिल करने वाली छात्रा शीतल मलिक और सृष्टि।

जीसीजी 11 के सालाना कन्वोकेशन में करीब 70 छात्राओं को टॉपर लिस्ट में शामिल होने पर सम्मानित किया गया। तीन छात्राओं को गोल्ड मेडल तथा 6 छात्राओं को कॉलेज के सबसे प्रतिष्ठित रोल ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया। नीरजा मेहरा को एमए डांस सरिता को एमएससी बॉटनी, दीप्ति चौधरी को एमएससी ज्याेलॉजी,मधुबाला को एमए म्यूजिक इंस्ट्रुमेंटल नवनीत कौर और कीर्ति को एमएससी बॉटनी के लिए रोल ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया।

अनीता ने बताया कि कॉलेज केंपस को रोज फेस्टिवल 2019 में बेस्ट मेंटेंड कैंपस का अवॉर्ड मेला है। अगले सत्र कॉलेज में 400 छात्राओं के लिए नया हॉस्टल शुरू हो जाएगा। कॉलेज में एमएचआरडी की तरफ से इंस्टीट्यूशन इनोवेशन काउंसिल को भी मंजूरी दी गई है।

किसान की बेटी शीतल मलिक को भी सम्मान 

कॉलेज के कन्वोकेशन समारोह में जीसीजी 11 से बीए ऑनर्स की छात्रा रही शीतल मलिक को भी डिग्री दी गई। शीतल को बीए ज्योग्राफी ऑनर्स में टॉप करने के लिए सम्मानित किया गया।शीतल मलिक हरियाणा के सोनीपत जिले के गोहाना शहर की मूल निवासी हैं। किसान की बेटी शीतल मालिक इस समय पंजाब यूनिवर्सिटी के जियोग्राफी विभाग से पढ़ाई कर रही हैं।शुरू से ही होनहार छात्रा रही शीतल कॉलेज की ऑल राउंडर छात्रा रही हैं 12वीं में 92 फ़ीसदी अंकों के अलावा इन्होंने  बीए ऑनर्स में 80 फ़ीसदी से अधिक अंक हासिल किए हैं ।पढ़ाई के अलावा विभिन्न गतिविधियों में भी इन्होंने कई पुरस्कार हासिल किए हैं। शीतल ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहां की वह सिविल सर्विसेज में करियर बनाना चाहती हैं, साथ ही उन्हें गरीब बच्चों को पढ़ाना अच्छा लगता है। 

साल बाद मिली दोस्त तो खिल उठे चेहरे 

कॉलेज कन्वोकेशन में डिग्री लेने पहुंची छात्राओं की खुशी देखते ही बनती थी। कॉलेज से पढ़ाई पूरी होने के करीब एक साल बाद सभी डिग्री लेने कॉलेज पहुंची। अपने दोस्तों और टीचर्स से मिलकर सभी काफी खुश नजर आ रहे थे । शिमला निवासी और पीयू में की छात्रा सृष्टि ने कहा कि कॉलेज में आकर फिर से पुरानी यादें ताजा हो गई । सृष्टी ने कहा कि कॉलेज हॉस्टल में बिताए 3 सालों को वह कभी नहीं भूल सकती। कॉलेज में बताओ समय सबसे अच्छा था सृष्टि को भी इस मौके पर विशेष तौर पर सम्मानित किया गया।दिव्यांग छात्रा को भी मिली डिग्री जीसीजी 11 कन्वोकेशन में दिव्यांग छात्रा मनप्रीत कौर को भी बीए की डिग्री दी गई। जैसे ही कौर स्टेज पर डिग्री लेने पहुंची, पूरा हॉल तालियों से गूंज उठा और इस खास छात्रा की सभी ने खूब हौसला अफजाई की। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!