राजेश ढल्ल, चंडीगढ़ : प्रशासन को आशंका है कि अब भी कई लोग ऐसे हो सकते हैं जो विदेश से लौटे हों और उनमे कोरोना वायरस के लक्षण आने शुरू हो गए हैं। लेकिन वह फिर भी इसकी जानकारी प्रशासन से छुपा रहे हैं। इन लोगों से दूसरों में भी संक्रमण फैलने का खतरा भी बढ़ गया है। ऐसे संदिग्ध और मरीजों की तलाश के लिए प्रशासन ने शहर की रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन से मदद मांगी है जोकि एरिया में ऐसे लोगों की जानकारी देगी जिनमे वायरस के लक्षण आ रहे हैं। नगर निगम कमिश्नर केके यादव का कहना है कि रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशनों को इस संबंध में मैसेज भेज दिया गया है ताकि इस तरह के मरीजों को होम क्वारंटाइन किया जा सके। कमिश्नर केके यादव का कहना है कि इसलिए ही जिन संदिग्ध मरीजों को अभी क्वारंटाइन किया गया है। उनके घर के बाहर इस संबंध में सूचना बोर्ड भी लगाए गए हैं। अगर किसी पड़ोसी को इस तरह से संक्रमित मरीज की जानकारी हो तो वे भी प्रशासन को इसकी जानकारी दे सकते हैं। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर का कहना है कि न तो मरीज और न ही उसके परिवार को डरने की जरूरत है। अगर दुबई से लौटने वाला युवक पहले ही अपने विदेश से आने की जानकारी बता देता तो 15 दिन पहले ही उसे ट्रैक कर लिया जाता और जो इस समय उसके संपर्क में आने वाले लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। उसकी जरूरत नहीं पड़ती। वॉलंटियर्स काम करने के लिए तैयार : बिट्टू

फासवेक अध्यक्ष बलजिदर सिंह बिट्टू का कहना है कि उन्होंने सभी आरडब्लयूए के पदाधिकारियों को कोरोना से निपटने के लिए प्रशासन की मदद करने के लिए कहा है। विदेश से आए लोगों की जानकारी प्रशासन को देनी चाहिए। प्रशासन ने जो इस समय सुबह 10 से शाम छह बजे तक जरूरी वस्तुओं की दुकानें खोलने की मंजूरी दी है, वह काफी अच्छा कदम है। इससे शहर में दशहत नहीं फैलेगी और लोगों को नॉमिनल रेट पर ही सब्जियां और राशन का सामान उपलब्ध हो जाएगा। इससे कालाबाजारी और मुनाफाखोरी पर भी लगाम लगेगी। आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों से प्रशासन वॉलंटियर्स काम ले सकता है। विदेश से पंजाब लौटे लोगों के चंडीगढ़ में भी होने की आशंका

प्रशासन के अनुसार विदेश से पंजाब में 94 हजार लोग लौटे हैं जिनमें से 33 हजार को ट्रेस कर लिया गया है। लेकिन बाकी की तलाश नहीं हो पाई है। इसकी जानकारी नहीं है कि पंजाब से कितने चंडीगढ़ पहुंच गए हैं। विदेश से लौटे लोग चंडीगढ़ जरूर आते हैं। ऐसे में ऐसे लोगों की तलाश करने के लिए प्रशासन ने अभियान छेड़ा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!