जागरण संवाददाता, जीरकपुर : सोमवार को नगर काउंसिल जीरकपुर ने प्रीत विहार कॉलोनी में गली में बनी सीढि़यों को अवैध बताते हुए तोड़ दिया था। अकाली वर्कर गुरदर्शन सिंह फौजी ने आरोप लगाया कि यह कार्रवाई आप विधायक कुलजीत सिंह रंधावा के बेहद करीबी रजिदर सिंह ढोला के कहने पर की गई है, जबकि ढोला ने खुद के घर के छज्जे कई फुट आगे बढ़ाए हुए हैं जोकि अवैध हैं। उनका आरोप है कि नगर काउंसिल की एक तरफा की गई कार्रवाई यह दर्शाती है कि यह सब कुछ बदला नीति के चलते किया गया है।

मंगलवार को इस मुद्दे को लेकर जीरकपुर शहर में काफी गहमा गहमी रही। इस संबंधी अकाली दल व कांग्रेस पार्टी के काउंसलर, पूर्व विधायक एनके शर्मा व नगर काउंसिल जीरकपुर के प्रधान उदयवीर ढिल्लों भी मौका देखने पहुंचे। इस दौरान पार्षदों ने आम आदमी पार्टी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मामले को लेकर आप के खिलाफ कांग्रेस व अकाली एकजुट हो गए हैं। उनका कहना है कि पार्टी बाजी से ऊपर उठकर इंसाफ के लिए लड़ाई लड़ेंगे। हाथों हाथ दिया नोटिस और कर दी कार्रवाई

पीड़ित गुरदर्शन सिंह ने कहा कि उनका यह मकान जीरकपुर नगर काउंसिल के बनने से पहले बना हुआ है और तभी से घर ज्यों का त्यों है। उनके पास नगर पंचायत से पास हुआ नक्शा भी है। गुरदर्शन सिंह फौजी ने कहा कि उनका इस मामले को लेकर कोर्ट केस चल रहा है। 19 मई को मामले की सुनवाई है, लेकिन नगर काउंसिल ने कोर्ट में केस विचारधीन होने के चलते कार्रवाई कर दी। कानून अनुसार किसी निर्माण को तोड़ने से पहले तीन बार नोटिस दिया जाता है लेकिन उन्हें कार्रवाई वाले दिन हाथों हाथ नोटिस थमाया गया और घर की सीढि़यां तोड़ डाली। गुरदर्शन सिंह ने आरोप लगाया कि नगर काउंसिल के पास उनके खिलाफ किसी की शिकायत नहीं है जिस पर यह कार्रवाई की गई हो बल्कि पॉलिटिकल प्रेशर के चलते यह सब हुआ है। आम आदमी पार्टी बदले की भावना के साथ काम कर रही है। जो सीढि़यां तोड़ी गई हैं वह घर नगर काउंसिल के बनने से पहले बना हुआ है। अदालत ने इस पर रोक लगाई हुई है। इस मामले को लेकर एडीसी से मिलकर जांच करवाई जाएगी।

- उदयवीर ढिल्लों, प्रधान नगर काउंसिल बिना कोई नोटिस जारी किए एकदम आकर सीढि़यां तोड़ना कानून सही नहीं है। जीरकपुर में और भी बहुत अवैध निर्माण है जो पहले तोड़े जाने चाहिए थे पर नगर काउंसिल के अधिकारी योजनाबद्ध तरीके के साथ सिर्फ एक ही घर को तोड़कर आम आदमी पार्टी की मंशा को उजागर कर रहे हैं।

एनके शर्मा, पूर्व विधायक मेरा इसमें कोई हाथ नहीं है। यह कार्रवाई नगर काउंसिल की ओर से की गई थी। जो कानूनी प्रक्रिया थी वह नगर काउंसिल ने की है। मुझे बदनाम किया जा रहा है।

- रजिदर सिंह ढोला, आप सदस्य ढोला कोई सीएम नहीं है जिसके कहने पर कार्रवाई होगी। अगर कानून अनुसार सीढि़यां टूटी है तो सही हुआ है और अगर गलत कार्रवाई हुई है तो इसकी भी जांच होगी। किसी के साथ कोई धक्काशाही नहीं की जाएगी।

- कुलजीत रंधावा, आप विधायक डेराबस्सी घर पर कोई स्टे नहीं हुई है, नोटिस देकर कार्रवाई की गई है। अगर ढोला के खिलाफ शिकायत आएगी तो जांच के बाद उसके घर पर भी कार्रवाई होगी।

- निरदोश, बिल्डिग इंस्पेक्टर

Edited By: Jagran