जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Chandigarh MC House Meeting: नगर निगम के सदन की बैठक आज 11 बजे शुरू होगी। अवकाश के दिन पहली बार सदन की बैठक बुलाई गई है, जिसमें कांग्रेस और भाजपा के बीच जमकर राजनीति होगी। वहींं, कांग्रेस पार्षदोंं ने सदन में मेयर रविकांत शर्मा का घेराव करने की योजना तैयार की है। उसी समय कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा के खिलाफ नगर निगम के बाहर प्रदर्शन करेंगे। पेड पार्किंग में स्मार्ट फीचर न लगे होने का मामला एक बार फिर से गरमाएगा।

वहीं, बैठक में नगर निगम कमिश्नर अनिंंदिता मित्रा शहर की पेड पार्किंग्स पर अपनी रिपोर्ट पेश करेंगी। पिछली सदन की बैठक में भी पेड पार्किंग को लेकर कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया था। नगर निगम कार्यालय के बाहर कांग्रेस के प्रदर्शन में अध्यक्ष सुभाष चावला सहित अन्य सीनियर नेता मौजूद रहेंगे। अगले साल फरवरी में होने वाले 50वें रोज फेस्टिवल के लिए नगर निगम ने 87 लाख रुपये खर्च करने का प्रस्ताव तैयार किया है। इस पर पार्षद तय करेंगे कि रोज फेस्टिवल भव्य स्तर पर मनाया जाए या फिर इस साल की तरह ही सीमित रखा जाए।कांग्रेस यह भी सवाल उठाएगी इतना खर्चा क्यों किया जा रहा है जबकि नगर निगम में वित्तीय संकट है। इस सदन की बैठक में औद्योगिक क्षेत्र में मलबे को प्रोसेस करने के बाद बनाई जाने वाली टाइल और पेवर ब्लाक का भी प्रस्ताव आ रहा है।

वाटर सप्लाई बायलॉज के क्लॉज-45 में संशोधन करना होगा। संशोधन करने का एजेंडा भी सदन में लाया जा रहा है। चंडीगढ़ पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी ने भी एमसी से इन गाइडलाइंस को लेकर कंप्लायंस सब्मिट करने के लिए कहा था। इन गाइडलाइंस में एप्लीकेंट दस्तावेज के साथ एप्लीकेशन जमा कराएगा। उसके बाद शर्तों के साथ एनओसी जारी होगी। रेजिडेंशियल अपार्टमेंट, ग्रुप हाउसिंग सोसायटी, गवर्नमेंट वाटर सप्लाई एजेंसी, एग्रीकल्चर सेक्टर, कमर्शियल, इंडस्ट्रियल, माइनिंग प्रोजेक्ट और इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के लिए यह एनओसी लेनी जरूरी होगी।इन गाइडलाइंस में केटेगरी वाइज पानी के रेट निर्धारित किए जाएंगे। जमीन से जितना पानी निकाला जाएगा उसी हिसाब से चार्ज भी देना होगा। इन गाइडलाइंस में डिजिटल वाटर फ्लो मीटर लगाना अनिवार्य है। बीआईएस स्टैंडर्ड का यह मीटर होगा। हालांकि पहले भी चंडीगढ़ में पानी के मीटर लगे हैं। लेकिन एनओसी के साथ डिजिटल मीटर जरूरी होगा। सदन की बैठक में नगर निगम के पेट्रोल पंप में काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन बढ़ाने का प्रस्ताव भी चर्चा के लिए आ रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता सतीश कैंथ का कहना है कि भाजपा ने पांच साल के कार्यकाल में शहर के लिए कुछ नहीं किया है जिसका जवाब सदन में मेयर से पूछा जाएगा।

Edited By: Ankesh Thakur