चंडीगढ़, [राज्य ब्यूरो]। Ayushman Bharat Scheme (सरबत सेहत बीमा योजना) के तहत अस्पतालों में फर्जीवाड़ा लगातार जारी है। स्टेट एंटी फ्रॉड यूनिट (एसएएफयू) ने धोखाधड़ी करने वाले 15 अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं। एसएसबीवाइ के अंतर्गत पाई गई धोखाधड़ी व अनियमितताओं के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने संबंधी एसएएफयू को निर्देश दिए गए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि एसएएफयू द्वारा पंजाब के अस्पतालों में अनियमितताओं से जुड़े सभी मामलों का उन्होंने स्वयं निरीक्षण किया है। उन्होंने बताया कि एसएएफयू की टीम के मुताबिक राज्य के 15 अस्पतालों को अब तक कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं और जुर्माना भी लगाया है।

सिद्धू ने ज्यादातर मामलों में दवाएं और अस्पतालों से इलाज के नाम पर व जनरल वॉर्ड में दाखिल मरीज द्वारा आइसीयू वार्ड के खर्च का दावा किया जा रहा है। 

सरबत सेहत बीमा योजना के 37 फर्जी ई-कार्ड किए थे रद

इससे पहले भी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू के निर्देशों पर कार्रवाई करते हुए राज्य की स्वास्थ्य एजेंसी ने बीमा योजना के अंतर्गत जारी किए 37 फर्जी ई-कार्ड रद किए थे। ऐसे कार्ड जारी करने में कथित अनियमितताओं का सख्त नोटिस लेते हुए बलबीर सिंह सिद्धू ने सिविल सर्जनों को उनके अधिकार क्षेत्र में आते कॉमन सर्विस सेंटरों की पूरी पड़ताल करने के निर्देश दिए थे।

दैनिक जागरण ने उठाया था मुद्दा

दैनिक जागरण द्वारा पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में फर्जी कार्ड मिलने पर उन्होंने फर्जी लाभपात्रियों का पता लगाने के लिए राज्य भर के सभी केन्द्रों की व्यापक ऑडिट जांच करने के लिए हिदायतें जारी की गई हैं। इन अादेशाें का जमीनी स्तर पर असर देखने काे मिल रहा है। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!