जासं, चंडीगढ़ : मेयर रविकांत शर्मा के शहर में कार्यक्रम जारी है। वह मंगलवार को सेक्टर-22 सी के सनलाइट पार्क में ओपन एयर जिम का उद्घाटन करने के लिए पहुंचे। लेकिन इस कार्यक्रम का विरोध करने के लिए प्रदर्शनकारी पहुंच गए। मेयर के आने से पहले ही किसान आंदोलन समर्थक प्रदर्शनकारी एकत्र हो गए थे लेकिन पुलिस ने इससे पहले ही चार लोगों को हिरासत में ले लिया। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। प्रदर्शनकारियों ने लोगों को हिरासत में लेने के विरोध में भी जमकर नारेबाजी की। कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता प्रिस भुदेंला के अनुसार इनमें से एक युवा कांग्रेस का नेता था। उद्घाटन कार्यक्रम में भी मेयर की सुरक्षा के लिए सौ पुलिस कर्मी तैनात थे। 15 मिनट के इस कार्यक्रम के लिए पुलिस कर्मचारी दो घंटे पहले ही तैनात कर दिए गए थे। पुलिस की ओर से एरिया को चारों तरफ से घेरते हुए बेरिकेड्स भी लगाए गए। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

मालूम हो कि इस समय प्रशासन की ओर से शहर में धारा-144 लागू है। इसके तहत पांच लोग एक साथ इकट्ठे नहीं हो सकते, लेकिन नगर निगम के इस कार्यक्रम में 50 लोग एकत्र हुए, जिनमें अधिकतर भाजपा समर्थक शामिल थे। 2.66 लाख रुपये की लागत से यहां पर ओपन एयर जिम लगाया गया है। मेयर का दावा है कि शहर के हर पार्क में इस तरह का ओपन एयर जिम लगाया जाएगा।

मामले में कांग्रेस के प्रवक्ता सतीश कैंथ का कहना है कि जब शहर में प्रशासन की ओर से धारा-144 लगाई गई है तो फिर मेयर को क्यों नियम तोड़ रहे हैं। फिजूल की प्रसिद्धी के लिए वार्ड के लोगों को परेशान किया जा रहा है। सिर्फ कांग्रेस के प्रदर्शन रोकने के लिए प्रशासन ने भाजपा के कहने पर धारा-144 लागू की है। कितनी हैरानी की बात है कि दो से तीन लाख रुपये की लागत के कामों का भी उद्घाटन किया जा रहा है।

Edited By: Jagran