जासं,ब¨ठडा : महिलाओं पर ¨हसा की घटनाएं बढ़ रही हैं। इसके बावजूद सरकार इस मुद्दे पर कोई ठोस कदम नहीं उठा पाई है। महिला सुरक्षा ही नहीं देश की आंतरिक सुरक्षा भी हाशिए पर है।नक्सली हमले से आए दिन आम जनता और जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है। इस मामले में भी सरकार अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतरी है। विपक्ष के इन हमलों के जवाब में सरकार ने अपने बचाव में इस योजना में खर्च किया जा रहा बजट और आंकड़े पेश किए। लेकिन विपक्ष ने सरकार के तर्कों को खारिज करते हुए आंकड़ों को झूठा करार दिया।

यह नजारा दिखा सोमवार को ब¨ठडा के द मिलेनियम स्कूल द्वारा आयोजित युवा संसद प्रतियोगिता में। स्कूल के प्रांगण में हुए आयोजन में स्टूडेंट्स ने अपनी तर्क क्षमता का प्रदर्शन कर लोगों का मन मोह लिया। द मिलेनियम स्कूल के बच्चों ने देश की समस्याओं और चुनाव सुधार के मुद्दों पर सवाल दागते हुए सत्ता पक्ष को घेरने की कोशिश की। इसके बाद विपक्ष ने नक्सली और चीन की समस्याओं का मुद्दा उठाया। इसके अलावा फूड सिक्योरिटी, कुलभूषण खरबंदा व बीफ बैन पर भी खुल कर चर्चा की गई।इसमें कक्षा सात से कक्षा बारह के छात्रों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम का उदेश्य छात्रों में अनुशासन,सहनशीलता का विकास करना व संसद भवन की गतिविधियों से अवगत कराना था। इस समागम में न¨रदर ¨सह बराड़, महासचिव पीपीसीसी मुख्यातिथि के तौर पर शामिल हुए। इनके अलावा जेआर मिलेनियम स्कूल मानसा के चेयरमैन अर्पित ¨सगला व गुरमनप्रीत ¨सह ध्लीवाल जिला मैनेजर मार्कफेड भी शामिल रहे। इस अवसर पर प्रधानाचार्य संगीता सक्सेना ने धीरज गर्ग,हुनरदीप,आशय काटकर,उदय ¨सह व अश्वनी काटकर को सम्मानित किया। इस मौके पर गुनवंत कौर,पवन मरवाहा,छाया,दीपति शर्मा, गुरमुख ¨सह,जसकरण ¨सह आदि स्टाफ सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!