संवाद सहयोगी, रामपुरा फूल :

कोरोना संकट के दौरान शिक्षा संस्थान बंद होने के कारण ज्यादातर स्कूलों द्वारा विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है। एक तरफ यहां ऑनलाइन पढ़ाई विद्यार्थियों को उनके सिलेबस से जोड़ कर रखने में कारगर साबित हो रही है वहीं दूसरी और ऑनलाइन पढ़ाई कुछ विद्यार्थियों के लिए मानसिक तनाव का कारण भी बनती जा रही है। ऑनलाइन पढ़ाई के कारण गत कुछ समय से मानसिक तनाव झेल रही गांव ढपाली निवासी नौवीं कक्षा की छात्रा द्वारा मंगलवार बाद दोपहर फिनायल निगलकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है।

एएसआइ सुखमंद्र सिंह ने बताया कि गांव ढपाली निवासी अंग्रेज सिंह गत कुछ वर्ष से दुबई में रहता है। उसकी पत्नी कर्मजीत कौर तथा तीन बेटियां ढपाली में रह रही हैं। बड़ी बेटी अनमोल कौर गांव के सरकारी स्कूल में नौवीं कक्षा की छात्रा है। लॉकडाउन के चलते ऑनलाइन पढ़ाई शुरू होने के कारण वह मोबाइल पर पढ़ाई करती थी। कितु घर में एक ही मोबाइल होने तथा ऑनलाइन पढ़ाई समझ न आने चलते वह मानसिक तौर पर परेशान रहने लगी। इसी दिमागी परेशानी के चलते मंगलवार दोपहर तीन वजे के करीब उसने अपने घर में फिनायल निगल ली। अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। मेधावी छात्रा थी अनमोल

मृतका अनमोल कौर की मां कर्मजीत कौर ने बताया कि अनमोल स्कूल की मेघावी छात्राओं में एक थी तथा प्रत्येक परीक्षा में अच्छे नंबर लेकर आती थी। मां ने बताया कि वह पढ़ाई में होशियार थी जबकि घर में एक ही मोबाइल होने के कारण वह उसकी ऑनलाइन शिक्षा प्रभावित हो रही थी। इसके उसकी बेटी पढ़ाई को लेकर काफी तनावपूर्ण स्थिति में रह रही थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!