नितिन सिगला,बठिडा

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच लगाए गए नाइट क‌र्फ्यू के चलते विवाह-शादी समागमों पर ग्रहण लग गया है, जबकि 14 जनवरी से शुभ मुहूर्त शुरू हो चुके हैं। ऐसे में पिछले कुछ माह से इस समय का इंतजार होटल व मैरिज पैलेस के अलावा बैंड बाजा, केटेरिग, डीजे आदि का काम करने वाले लोगों को बेसबरी से इंतजार था, लेकिन जिला प्रशासन की तरफ से रात दस से सुबह पांच बजे तक लगाए गए नाइट क‌र्फ्यू के कारण शादियों की बुकिग कैंसिल होनी शुरू हो गई है। इस कारण शादी समागमों से जुड़े कारोबारियों का उत्साह भी फीका पड़ गया है।

उनका कहना है कि कोरोना महामारी के कारण पहले लगे लाकडाउन के कारण पहले ही होटल व मैरिज पैलेस इंडस्ट्री पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी थी। अब थोड़ी से उम्मीद की किरण दिखाई दे रही थी, लेकिन सरकार ने रात को नाइट क‌र्फ्यू लगाकर वह उम्मीद भी छीन ली है। मजबूरन लोगों को या तो अपनी शादी कुछ समय के लिए टालनी पड़ रही है या फिर दिन के समय में चुनिदा रिश्तेदारों को बुलाकर सिपल प्रोग्राम कर रहे हैं। पिछले साल कोरोना संक्रमण के चलते शादी- विवाह के कार्यक्रम खूब प्रभावित हुए थे। कन्या-पक्ष व वर पक्ष की सारी तैयारियां धरी की धरी रह गई थीं। शुरूआती दौर में 10 से 15 की संख्या में वर पक्ष के लोग बारात लेकर कन्यापक्ष के घर पहुंचकर शादी की रसमे पूरी की। जनवरी-फरवरी में हैं शुभ लग्न की तिथियां

पंडित अविनाश शास्त्री का कहना है कि संक्रांति के बाद विवाह का मुहूर्त शुरू हो चुके हैं। 14 जनवरी से खरमास खत्म होते ही लोग शुभ कार्य करना शुरू कर दिया है। शादी विवाह की तारीख यूं तो 2022 में 70 से अधिक दिन है, लेकिन जनवरी-फरवरी में अधिक शुभ लग्न की तिथियां हैं। कोरोना के कारण भी लोग शुभ मुहूर्त रहने के कारण भी शादी विवाह की तिथियां टाल रहे हैं। बढ़ते संक्रमण को देखकर अब बुकिग करने से कतरा रहे हैं। बुकिंग रद होने से हो रहा लाखों का नुकसान: समीर कुमार

होटल व मैरिज पैलेस संचालकों को इस बार भी लाखों का झटका लगा है। बठिडा-बरनाला रोड पर स्थित सफायर होटल के मालिक समीर कुमार का कहना है कि नाइट क‌र्फ्यू लगने के बाद से उनके होटल में रात के समय होने वाले ज्यादा तरह विवाह समागम कैसिल हो गए हैं, जबकि लोहड़ी के समागम भी रद हो गए थे। 22 जनवरी और 23 जनवरी की बुकिंग रद हो गई है, जिसके कारण उन्हें लाखों रुपये का नुक्सान हुआ है।

नाइट क‌र्फ्यू ने होटल इंडस्ट्री को सड़क पर ला दिया: सतीश अरोड़ा

होटल एंड रेस्टारेंट एसोसिएशन पंजाब के प्रधान सतीश अरोड़ा का कहना है कि नाइट क‌र्फ्यू ने होटल व मैरिज पैलेस की इंडस्ट्री को सड़क पर लाकर रख दिया है। पूरे पंजाब में 11 से 15 जनवरी तक होने वाले समागम रद होने के कारण 100 करोड़ रुपये का आर्थिक नुक्सान होटल इंडस्ट्री को हुआ है। सतीश अरोड़ा ने कहा कि नाइट क‌र्फ्यू लगाना कोई हल नहीं है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार कुछ और कदम उठाने चाहिए।

Edited By: Jagran