संवाद सहयोगी, मानसा : कैदियों से रिश्वत लेने के आरोपित डिप्टी जेल सुपरिंटेंडेंट गुरजीत ¨सह बराड़ ने शनिवार को सीजेएम की अदालत में पेश होकर आत्मसमर्पण कर दिया। इसके बाद विजिलेंस विभाग ने उसे गिरफ्तार कर उसका और मामले के दूसरे आरोपित जेल सुपरिंटेंडेंट मानसा दविंदर ¨सह रंधावा का सोमवार तक का रिमांड हासिल कर लिया है। मामले में अभी तक फरार चल रहे गुरजीत ¨सह बराड़ को भगोड़ा करार दिए जाने की तैयारी की जा रही थी, इस का खुलासा विजिलेंस मानसा के डीएसपी मनजीत ¨सह ने शनिवार को किया। बता दें कि मानसा की जिला जेल में दो कैदियों से लाखों रुपये की रिश्वत लेने वाले डिप्टी जेल सुपरिंटेंडेंट गुरजीत ¨सह पर विजिलेंस विभाग ने केस दर्ज किया गया था। रिश्वत लेने के खेल में गुरजीत ने मौजूदा जेल सुपरिंटेंडेंट दविंदर ¨सह रंधावा को भी शामिल किया था। इसके साथ 17 दिसंबर को 2017 को सहायक जेल सुपरिंटेंडेंट सिकंदर ¨सह और एक कैदी पवन कुमार को इस मामले में काबू किया था। जेल अधिकारी और कैदी को विजिलेंस अफसरों ने जेल से बाहर से रंगे हाथ पकड़ा था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!