जासं, बठिडा : विदेश भेजने के नाम पर लोगों से ठगी करने वाले ट्रैवल एजेंट के खिलाफ भारती किसान यूनियन लक्खोवाल ने संघर्ष शुरू करने का ऐलान किया है। शुक्रवार को बठिडा प्रेस क्लब पहुंचे यूनियन के प्रदेश सीनियर वाइस प्रधान सरमुख सिंह सिद्वू ने कहा कि ट्रैवल एजेंटों की तरफ से लोगों को विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने वाले पीड़ित लोग इंसाफ के लिए पुलिस प्रशासन को लिखित शिकायत दे चुके है, लेकिन उन्हें कोई इंसाफ नहीं मिल रहा है। ऐसे में पीड़ित लोग उनकी यूनियन से संपर्क कर उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए संपर्क कर रहे है। उन्होंने कहा कि अपने बच्चों की जिदगी व परिवार के भविष्य के लिए किसान अपनी जमीन बेचकर ट्रैवल एजेंटों को पैसे दे रहे है, लेकिन वह एजेंट विदेश भेजने की बजाएं पैसे लेकर फरार हो रहे है। उन्होंने बताया कि गांव गंगा निवासी बलविदर सिंह ने अपनी बेटी को आस्ट्रेलिया भेजने के लिए साल 2017 में ओईसीसी कंपनी को साढ़े 12 लाख रुपये दिए थे, लेकिन उसकी बेटी का वीजा रद्द हो गया। जिसके बाद पीड़ित पिता ने कंपनी दफ्तर के कई चक्कर लगाने के बाद करीब आठ लाख रुपये वापस कर दिया, जबकि साढ़े चार लाख रुपये अभी तक वापस नहीं किए है। जिसके चलते यूनियन ने उक्त पीड़ित व्यक्ति की बाकी रकम वापस करवाने के लिए कंपनी के खिलाफ संघर्ष शुरू करने का ऐलान किया है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर कंपनी ने 25 नवंबर से पहले पीड़ित व्यक्ति के साढ़े चार लाख रुपये वापस नहीं किए, तो यूनियन कंपनी के दफ्तर का घेराव करेगी और पक्का मोर्चा लगाया जाएगा। पैसे लेने के बाद संघर्ष खत्म किया जाएगा। इस मौके पर सुखदेव सिंह गंगा, सुखमंदर सिंह गिल आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!